Friday , October 7 2022

जाति शब्‍द का प्रयोग खत्‍म करके समाप्‍त करें जातिप्रथा

-केजीएमयू में अम्‍बेडकर जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री का आह्वान

सेहत टाइम्‍स

लखनऊा आवास एवं शहरी मामले के मंत्री कौशल किशोर ने कहा है कि कहा 14 अप्रैल को देश भर में बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई जाती है। बाबा साहेब देश के एक ऐसे शख्स थे जिनकी तुलना किसी और से नहीं की जा सकती। उन्होंने भारत के संविधान निर्माण में एक पिता की भूमिका निभाई। वे हमेशा शोषितों के लिए लड़े। उन्होंने कहा कि हमे जातिशब्द का प्रयोग खत्म करके जातिप्रथा को खत्म कर देना चाहिए। इससे हमारा भारत और आधुनिकता की ओर बढ़ेगा।

कौशल किशोर ने यह बात यहां किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी केजीएमयू में भारतरत्न बाबासाहेब डॉ बी आर अंबेडकर की 131वीं जयंती के शुभ अवसर पर सेल्बी हॉल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के रूप में सम्‍बोधित करते हुए कही।

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन व बुद्ध वंदना से हुआ। कार्यक्रम में भाषण, गीत, कविता, प्रश्नोत्तरी, आदि कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। मंत्री द्वारा अंबेडकर जयंती पर आयोजित प्रश्नोत्तरी के विजयी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति, लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. बिपिन पुरी ने कहा कि डॉ भीमराव अंबेडकर ने हमेशा शोषितों, वंचितों और महिलाओं के लिए कार्य किया है। बाबा साहेब मानते थे कि एक देश तब तक विकास नहीं कर सकता जब तक वहां की औरतें विकसित न हो जाएं।

इस अवसर पर पदमश्री डॉ. एस.एन. कुरील ने कहा कि हम सभी डॉ. अम्बेडकर द्वारा दिखाये मार्ग पर चलें ताकि देश में अशिक्षा, निर्धनता, जातिवाद और छुआछूत जैसी समस्याओं को खत्म किया जा सके। यही हमारी बाबा साहेब को सच्ची श्रद्धाजलि होगी।

कार्यक्रम का समापन डॉ. एस. पी. जायसवार के धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ। इस अवसर पर कार्यक्रम में डॉ. सुरेश बाबू, डॉ. एस.पी. जायसवार, प्रो. डॉ. एस.एन. संखवार और केजीएमयू के सभी विभागों के डॉक्टर एवं छात्र-छात्राएं शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × 3 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.