Monday , October 3 2022

Tag Archives: मामले

18 दिनों में एक्टिव केस पौने दो लाख घटे, नये मामलों में भी 30 हजार की कमी

-प्रदेशव्‍यापी आंशिक कोरोना कर्फ्यू के अच्‍छे परिणाम सामने आ रहे -68 प्रतिशत गांव अभी बचे हैं कोरोना संक्रमण से, हो रही कड़ी निगरानी सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री की एग्रेसिव टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की रणनीति से प्रदेश में संक्रमण कम …

Read More »

यूपी में सक्रिय कोरोना संक्रमितों की संख्‍या पहुंची 58,801

-लखनऊ में इस समय 16,690 मरीज कोरोना संक्रमित सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। कोविड-19 की दूसरी लहर से आंकड़ों के रिकॉर्ड का टूटना जारी है, स्थिति दिन पर दिन और भयावह होती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी 10 अप्रैल शनिवार सुबह 6:00 बजे तक की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर …

Read More »

लखनऊ पर कोरोना का फि‍र रिकॉर्डतोड़ वार, 1181 नये मरीज, 16 की मौत

-24 घंटों के आंकड़ों में यूपी में भी रिकॉर्ड 7103 नये मरीज, 74 की मौत सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। वैश्विक महामारी कोविड-19 का उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पर रिकॉर्ड तोड़ हमला हुआ है, यहां एक दिन में 1181 नये मामले सामने आये हैं, इस अवधि में 16 लोगों की …

Read More »

पिछले दो वर्षों के मुकाबले इस वर्ष 18 गुना कम हुए इंसेफ्लाइटिस के केस

तृतीय संचारी रोग नियंत्रण तथा दस्तक अभियान का शुभारंभ किया मंत्री ने सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने आज यहां शहीद अशफाक उल्ला खां नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बरावन कला, लखनऊ में तृतीय संचारी रोग नियंत्रण तथा दस्तक अभियान का …

Read More »

डिप्‍थीरिया से मौतों के बाद स्‍वास्‍थ्‍य विभाग अलर्ट, 62 और गलघोटू पॉजिटिव

पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के 9 जिलों में डिप्‍थीरिया का प्रकोप, एक्‍शन टीम गठित   लखनऊ। पश्चि‍मी उत्तरप्रदेश के कई जिलो में डिप्थीरिया (गलघोटू) से होने वाली मौतों की रिपोर्ट के आने के बाद रेपिड रेस्पोंसेस (आरआरटी) टीमों को कार्यवाही के लिए सक्रिय किया गया है साथ ही आवश्‍यक दवाओं और …

Read More »

जानिये, समय से पूर्व प्रसव के मामले शहरों में ही क्‍यों होते हैं ज्‍यादा

घरों से ज्‍यादा संक्रमण मिलता है अस्‍पतालों से लखनऊ। यह देखा गया है कि समय पूर्व प्रसव के मामले शहरों में ज्‍यादा होते हैं जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग न के बराबर। शहरों में इसके ज्‍यादा होने के कारणों में एक कारण है जरूरत या फि‍र आधुनिकता की दौड़ में …

Read More »