Saturday , February 4 2023

विरासत में मिली प्रगति से मेरी चुनौती और बढ़ गयी है : डॉ जेडी रावत

-इंडियन मेडिकल एसोसिएशन लखनऊ की नयी कार्यकारिणी ने ली शपथ

नयी जिम्‍मेदारी के लिए हैं तैयार हम
वर्तमान से निवर्तमान हो गये

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की लखनऊ शाखा के नये अध्‍यक्ष डॉ जेडी रावत ने नयी कार्यकारिणी के साथ आज शपथ लेकर अपना कार्यभार सम्‍भाला। रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आईएमए भवन में आयोजित भव्‍य शपथ ग्रहण समारोह में अब तक अध्‍यक्ष रहे डॉ मनीष टंडन निवर्तमान अध्‍यक्ष हो गये, जाते-जाते डॉ मनीष टंडन ने अपने कार्यकाल में किये गये कार्यों से ऐसी छाप छोड़ी है कि सभी एकस्‍वर से कह रहे थे, वाकई बदलाव तो बहुत हुआ, अध्‍यक्ष पद की कुर्सी सम्‍भालने वाले डॉ जेडी रावत ने भी कहा कि डॉ मनीष टंडन से मुझे सबसे ज्‍यादा चुनौती मिली है।

नयी कार्यकारिणी को शपथ

डॉ रावत ने सभी का स्‍वागत व आभार जताते हुए कहा कि नयी कार्यकारिणी से मुझे उम्‍मीद है कि सबका मुझे वर्ष भर सहयोग मिलता रहेगा। उन्‍होंने कहा कि मैंने पूर्व में पांच अध्‍यक्षों के साथ कार्य किया है, पिछले पांच सालों में जो आईएमए में प्रगति हुई है, वह काफी सराहनीय है, उन्‍होंने कहा‍ कि इस प्रगति को देखते हुए हमारे लिए बहुत कठिन टास्‍क होगा कि हम आगे क्‍या करते हैं। उन्‍होंने कहा कि ब्‍लड बैंक का सपना डॉ रुखसाना खान का था। हमारे पूर्व प्रेसिडेंट डॉ पीके गुप्‍ता, डॉ जीपी सिंह, डॉ रमा श्रीवास्‍तव, डॉ मनीष टंडन के सहयोग से ब्‍लड बैंक बना, अब इसे और ऊंचाइयों पर ले जाना है, क्‍योंकि जब हम दूसरे आईएमए जैसे बरेली, प्रयागराज, वाराणसी के ब्‍लड बैंक देखते हैं तो पाते हैं कि उससे न केवल आमदनी अच्‍छी होती है बल्कि उनका बहुत नाम भी है।

शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने आये अतिथि

उन्‍होंने कहा कि मैं प्रयास करूंगा कि चिकित्‍सकों के दूसरे एसोसिएशंस जैसे नर्सिंग होम एसोसिएशन, ऑब्‍स एंड गाइनी एसोसिएशन, प्राइवेट प्रैक्टिशनर्स एसोसिएशन, सब‍को आईएमए से जोड़ूंगा। उन्‍होंने कहा कि आईएमए भवन में फ्रंट साइड से नया लुक देने का कार्य करूंगा, साथ ही हॉल में चेयर्स बदलने की योजना है। सीएमओ रजिस्‍ट्रेशन में आने वाली बाधाओं को दूर करने की दिशा में कार्य करूंगा। इसके अतिरिक्‍त हम लोगा मेडिकल प्रोटेक्‍शन एक्‍ट को प्रभावी तरह से लागू कराने की दिशा में कार्य करेंगे। आईएमए की वीमेन डॉक्‍टर विंग को बढ़ाने की दिशा में कार्य करूंगा।

इससे पूर्व निवर्तमान अध्‍यक्ष डॉ मनीष टंडन ने कहा कि जब मैंने पिछले साल अध्‍यक्ष पद सम्‍भाला तब मुझे अनुभव नहीं था, सबका सहयोग मिला, जिससे हम ब्‍लड बैंक स्‍थापना जैसे बड़े कार्य व अन्‍य चुनौतियों को पूरा कर पाये। इसके लिए मैं सभी का आभारी हूं। उन्‍होंने कहा कि मेरे इन कार्यों में जो लोग मेरे साथ एक आवाज पर खड़े रहे उनमें एक हैं डॉ वीरेन्‍द्र कुमार यादव, मैं उनका और डॉ वारिजा सेठ के सहयोग के लिए विशेष आभार प्रकट करता हूं। उन्‍होंने कहा कि मुझे उम्‍मीद है कि हमारे अगले प्रेसीडेंट को भी ये लोग अपना सहयोग देते रहेंगे।

मुख्‍य अतिथि के रूप में शामिल हुए अटल बिहारी वाजपेयी विश्‍व विद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ एके सिंह ने पदाधिकारियों को शपथ दिलायी।

शपथ

‘मैं आईएमए संविधान की मर्यादा का पालन करते हुए प्रतिज्ञा करता हूं कि मैं चिकित्‍सक पेशा के मान एवं सम्‍मान की रक्षा करूंगा तथा आईएमए के उद्देश्‍यों को यथासंभव पूरा करूंगा, जयहिन्‍द लॉन्‍ग लिव आईएमए’

हम साथ-साथ हैं

जिन पदाधिकारियों ने शपथ ली उनमें अध्‍यक्ष डॉ जेडी रावत को शपथ दिलायी गयी, इसके अलावा प्रेसीडेंट इलेक्‍ट डॉ विनीता मित्‍तल, उपाध्‍यक्ष डॉ अजय कुमार वर्मा, डॉ अनिल कुमार त्रिपाठी व डॉ अलीम सिद्दीकी, फाइनेंस सेक्रेटरी डॉ सरिता सिंह, सचिव डॉ संजय सक्‍सेना, संयुक्‍त सचिव डॉ प्रांजल अग्रवाल, डॉ गुरमीत सिंह, डॉ हैदर अब्‍बास व डॉ वारिजा सेठ, एडिटर डॉ वीरेन्‍द्र कुमार यादव ने शपथ ली। कार्यकारिणी सदस्‍यों में डॉ अमित अग्रवाल, डॉ अनन्‍त शील चौधरी, डॉ अनि‍ता सिंह, डॉ अर्चि‍का गुप्‍ता, डॉ आशुतोष कुमार शर्मा, डॉ दर्शन बजाज, डॉ मोना असनानी, डॉ आरबी सिंह, डॉ राकेश कुमार दीक्षित, डॉ ऋतु सक्‍सेना, डॉ संजय श्रीवास्‍तव, डॉ श्‍वेता श्रीवास्‍तव, डॉ सुमित रूंगटा तथा डॉ सुमित सेठ को शपथ दिलायी गयी।

आईएमए की वीमेन डॉक्‍टर विंग की चेयरपर्सन डॉ रमा श्रीवास्‍तव ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि आईएमए में बहुत कुछ बदला है, जहां इसका लुक बदला है, वहीं अब युवा चिकित्‍सक भी सक्रियता से संगठन से जुड़ रहे हैं, इस बात की मुझे खुशी है। उन्‍होंने सभी सदस्‍यों से आईएमए वीमेन डॉक्‍टर विंग के कार्यक्रमों में भी भागीदारी की अपील की।

प्रेसिडेंट इलेक्‍ट प्रो विनीता मित्‍तल ने अपने सम्‍बोधन में अपनी जीत के लिए सभी का धन्‍यवाद किया, उन्‍होंने कहा‍ कि आईएमए के हमारे पूर्व के अध्‍यक्षों ने जिस प्रकार इसे आगे बढ़ाने में अपना योगदान दिया है, उसी प्रकार मैं भी अपना योगदान दूंगी।

चिकित्‍सक आईएमए की सीएमई में जरूर हिस्‍सा लें : डॉ एके सिंह

मुख्‍य अतिथि डॉ एके सिंह ने कहा कि उनका आईएमए से पहला जुड़ाव अस्‍सी के दशक में उनके एमबीबीएस करने के दौरान हुआ था जब प्रयागराज में उनके पिता जो आईएमए के सदस्‍य थे, उन्‍होंने एक नेशनल कॉन्‍फ्रेंस करायी थी, इसमें उन्‍होंने सक्रिय रूप से भाग लिया था। इसके बाद जब उनकी पढ़ाई पूरी हुई तब 1978-1979 से वे स्‍वयं आईएमए के सदस्‍य बन गये, उसके बाद लखनऊ आ गये। उन्‍होंने कहा कि बाद में वे आईएमए के अध्‍यक्ष भी बने। उन्‍होंने कहा कि आईएमए में प्रेसीडेंट के रूप में कार्य करके उन्‍हें विभिन्‍न विधाओं के चिकित्‍सकों के साथ कार्य करने का मौका मिला। उन्‍होंने कहा कि यह बहुत अच्‍छा अनुभव रहा है कि दूसरी विधाओं के डॉक्‍टरों के सेमिनार, कार्यशालाओं में मुझे अपनी स्‍पेशियलिटी (प्‍लास्टिक सर्जरी) के अलावा भी बहुत कुछ जानने को मिला। उन्‍होंने सभी सदस्‍यों से अपील की कि वे आईएमए के बैनर तले होने वाली सीएमई, रिफ्रेशर कोर्स आदि में जरूर हिस्‍सा लें क्‍योंकि इसमें दूसरी विधाओं के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

उन्‍होंने आईएमए में ऐसी एक्टिविटी के आयोजन का सुझाव दिया जो चिकित्‍सक के परिजनों के लिए भी लाभदायक हो, विशेषकर चिकित्‍सकों के बच्‍चों के लिए उनके अवकाश के दिनों में स्किल प्रोग्राम का आयोजन किया जाये जिसमें बच्‍चे भाग ले सकें, इससे चिकित्‍सकों के परिवारों को भी पास आने का मौका मिलेगा।

कार्यक्रम के अंत में सचिव डॉ संजय सक्‍सेना ने आये हुए सभी अतिथियों का धन्‍यवाद अदा करते हुए आभार जताया। उन्‍होंने अध्‍यक्ष डॉ मनीष टंडन के साथ बिताये एक वर्ष के कार्यकाल के लिए डॉ टंडन की तारीफ करते हुए कहा कि उनके साथ कार्य करने का बहुत अच्‍छा अनुभव रहा। उन्‍होंने कहा कि यह मेरे कार्य का दूसरा वर्ष होगा मुझे उम्‍मीद है कि जैसा सहयोग मुझे पिछले वर्ष मिला, ऐसा ही सहयोग आने वाले वर्ष में भी मिलेगा।  डॉ मनीष टंडन ने हमेशा मुझे फ्री हैंड दिया, उन्‍होंने कहा कि डॉ मनीष टंडन के कार्यकाल में बहुत कार्य हुआ, हम लोगों ने प्रेसीडेंट और सचिव का कमरा बनवाया, कार्यालय बनवाया, कॉरीडोर को एयरकंडीशनिंग करवाया, फायर फाइटिंग सिस्‍टम लगवाया, ऊपरी मंजिल पर सेमिनार रूम का नवीनीकरण जैसे बहुत से कार्य कराये। इस मौके पर पूर्व अध्‍यक्ष डॉ राकेश सिंह, डॉ पीके गुप्‍ता, डॉ जीपी कौशल, डॉ रुखसाना खान, डॉ जीपी सिंह, आईएमए चेरिटेबिल ब्‍लड बैंक के प्रभारी डॉ मनीष सिंह, डॉ एसएन कुरील, डॉ विजय कुमार, डॉ सुरेश तलवार, डॉ सरस्‍वती, डॉ एचएस पाहवा सहित अनेक चिकित्‍सक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twelve + four =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.