Thursday , December 2 2021

रक्‍तदान से पैदा होती है स्‍फूर्ति, 5 प्रतिशत कम होते हैं हृदय रोग

स्‍वैच्छिक रक्‍तदान के मौके पर रक्‍तदान के क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों, संस्‍थाओं को राज्‍यपाल ने किया सम्‍मानित

-मंत्रियों, राज्‍यमंत्रियों, प्रमुख सचिव ने भी रक्‍तदान में योगदान पर जताया आभार

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ बिपिन पुरी ने रक्तदान के लाभ गिनाते हुए बताया कि रक्तदान के तुरंत बाद ही नई लाल कोशिकाएं बनने से स्पूर्ति पैदा होती है, साथ ही रक्तदान करते रहने से हृदय रोगों में 5% की कमी हो जाती है, इसके साथ ही अस्थि मज्जा लगातार क्रियाशील रहती है।

डॉ बिपिन पुरी ने यह बात शुक्रवार को स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर केजीएमयू में आयोजित कार्यक्रम ‘रक्तदान को सम्मान’ में व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि रक्त द्वारा संक्रमित होने वाली बीमारियों की नैट विधि से स्वत: जांच हो जाती है। उन्होंने कहा कि एक यूनिट रक्तदान करने से कई प्रकार के ब्लड कंपोनेंट बनाकर कई मरीजों को जीवनदान दिया जा सकता है।

रक्तदान को सम्मान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल,  विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रदेश के वित्त संसदीय कार्य एवं चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, विशेष आमंत्रित अतिथि के रूप में विधायक न्याय एवं अभियंत्रण सेवा विभाग के मंत्री बृजेश पाठक, वित्त चिकित्सा शिक्षा एवं प्राविधिक शिक्षा के राज्यमंत्री संदीप सिंह तथा विशेष अतिथि के रूप में चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार उपस्थित थे।

कार्यक्रम में राज्यपाल ने स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य करने वाली संस्थाओं, रक्तदाताओं, रक्तदान उत्प्रेरकों को सम्मानित किया गया। राज्यपाल ने बदायूं की सांसद डॉ संघमित्रा मौर्य, आकांक्षा समिति की अध्यक्ष अर्चना तिवारी, डीएम लखनऊ अभिषेक प्रकाश, पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर, सशस्त्र सीमा बल के रत्न संजय, लायंस क्लब लखनऊ, अमर उजाला फाउंडेशन, स्वामी विवेकानंद यूथ, अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा, किशोर कुमार पंत सहित 43 संस्थाओं, रक्तदाताओं, रक्तदान उत्प्रेरकों को राज्‍यपाल ने सम्मानित किया। राज्यपाल ने जनमानस से अधिक से अधिक सुरक्षित रक्तदान करने को कहा, तथा इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए केजीएमयू को बधाई देते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन से स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा मिलता है। मंत्री सुरेश खन्ना ने कोरोनाकाल में केजीएमयू द्वारा किए गए कार्य की प्रशंसा करते हुए सम्मानित की जाने वाली संस्थाओं, रक्तदाता, रक्तदान उत्प्रेरकों को बधाई दी। मंत्री बृजेश पाठक ने भी रक्तदान के क्षेत्र में प्रशंस‍नीय कार्य करने वाले कार्यक्रम के आयोजकों एवं संस्थाओं, रक्तदाताओं, रक्तदान उत्प्रेरकों की प्रशंसा की और उन्हें स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में अच्छा कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया।

विशेष आमंत्रित अतिथि आलोक कुमार ने राज्यपाल, दोनों मंत्रियों, विशेष आमंत्रित अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए स्वैच्छिक रक्तदान के क्षेत्र में प्रशंसनीय कार्य करने वालों के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम की संयोजक केजीएमयू के ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष डॉ तूलिका चंद्रा ने विभाग की उपलब्धियां बताते हुए संस्थाओं, रक्तदाताओं, रक्तदान उत्प्रेरकों को ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग को सहयोग देने के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.