Tuesday , May 17 2022

नवदम्‍पति को स्‍वास्‍थ्‍य सम्‍बन्‍धी दिक्‍कतें होने का बड़ा कारण है यह

युवा दम्‍पतियों को परिवार नियोजन की सही जानकारियां होना जरूरी

लखनऊ। युवा दंपतियों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए ममता हेल्थ इंस्टीट्यूट फार मदर एंड चाइल्ड ने स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से “मिशन परिवार विकास” का कार्यक्रम किया। गुरुवार इटौंजा सीएचसी में आयोजित इस कार्यक्रम में 250 युवा दंपतियों ने भाग लिया।

 

आयोजन में युवा दंपतियों को आहार, एचआईवी, मानसिक स्वास्थ्य, अनुवांशिक, गर्भ निरोधक तथा संक्रामक रोग आदि के विषय में विशेषज्ञों द्वारा बताया गया। सीएचसी अधीक्षक डा संदीप सिंह ने गर्भ निरोधक के तरीके अंतरा इंजेक्शन तथा छाया टेबलेट की जानकारी दी। डा उमेश चंद्रा ने गर्भावस्था दौरान संक्रामक रोगों, ममता सिंह ने मानसिक स्वास्थ्य, डॉ पूनम गुप्ता ने आहार से संबंधित जानकारी दी। दंपतियों को “गर्भावस्था के समय देखभाल” संबंधित पुस्तिका के साथ एक किट का वितरण किया गया। संस्था की स्टेट समन्वयक डा प्रीति वर्मा ने बताया कि नवदम्‍पति को स्वास्थ्य संबंधित दिक्कतें परिवार नियोजन के साधनों की सही जानकारियों व जागरूकता की कमी से होती है।

संस्था का प्रयास है कि युवा दम्‍पति इन परेशानियों के प्रति जागरूक रहे। कार्यक्रम का संचालन सुपरवाइजर सुनीता बाजपेयी ने करते हुए नवदंपति‍यों को पहला बच्चा देर से करने व बच्चों  के बीच 3 वर्ष का अंतर रखने की सलाह दी तथा समन्वयक मो मासूम ने नवदंपति‍यों को उत्साह पूर्वक जागरूकता शिविर में भाग लेने के लिए धन्यवाद दिया।

 

कार्यक्रम में महोना, इटौंजा, किशुनपुर, पृथ्वीनगर तथा बनगांव आदि गांवों से युवा दंपति‍ एकत्र हुए। कार्यक्रम में संस्था की ओआरडब्ल्यू सरिता, याशमीन, अंकुर तथा पुष्पा व माल ब्लॉक की सुपरवाइजर पप्पी यादव मौजूद रहीं।