यूपी में गन्‍ना मिलों व नाइट्रोजन प्‍लांट्स में भी ऑक्‍सीजन बनाने पर विचार

-प्रतिदिन ऑक्‍सीजन आपूर्ति बढ़ाने के प्रयास किये जा रहे, टैंकरों की समुचित व्‍यवस्‍था की जा रही

नवनीत सहगल

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में ऑक्‍सीजन की कमी पूरी करने के लिए कई कदम और उठाये गये हैं। प्रदेश में ऑक्सीजन की प्रतिदिन बढ़ोतरी करते हुए आपूर्ति सुनिश्चित कराई जा रही है। इनमें गन्‍ना मिलों और नाइट्रोजन प्‍लांट्स में ऑक्‍सीजन बनाने पर भी विचार किया जा रहा है।

प्रदेश के अपर मुख्‍य सचिव नवनीत सहगल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में ऑक्सीजन की प्रतिदिन बढ़ोतरी की जा रही है। इसी क्रम में 682 मी0टन ऑक्सीजन की सप्लाई की गयी है। इसके अतिरिक्त ऑक्सीजन टैंकरों की समुचित व्यवस्था की जा रही है। भारत सरकार के द्वारा भी टैंकरों की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि जिन गन्ना मिलों में ऐथनॉल बन रहा है वहां पर परिर्वतन करते हुए ऑक्सीजन गैस का उत्पादन किया जा सकता है। इसके साथ-साथ जो प्रदेश में नाइट्रोजन प्लांट हैं, उनमें भी आई.आई.टी कानपुर द्वारा सुझाव दिया गया है कि उनमें संशोधन करके ऑक्सीजन गैस बनाने की व्यवस्था हो सकती है।

श्री सहगल ने बताया कि मुख्‍यमंत्री ने सभी अधिकारियों तथा मुख्य चिकित्साधिकारियों से कहा है कि जनता के प्रति व्यवहार अच्छा रखें, उन्हें हर प्रकार से सहयोग प्रदान करें। कोई अगर ऑक्‍सीजन सिलिंडर भरवाने जा रहा है तो उसे न रोका जाये।