Monday , June 27 2022

शासन के रवैये से नहीं हो पा रहा फार्मासिस्‍टों की मांगों का समाधान

-फार्मासिस्‍ट का आरोप, आंदोलन पर शासन बात नहीं कर रहा

-छठे दिन भी दो घंटे कार्य बहिष्‍कार जारी, भटकते रहे मरीज

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। लम्‍बे समय से लम्बित चल रही मांगों को पूरा न किये जाने के विरोध में फार्मेसिस्टों ने आज छठे दिन के कार्यबहिष्कार के दौरान विभिन्न चिकित्सालयों में जोरदार प्रदर्शन किया। दो घंटे चले कार्य बहिष्‍कार के दौरान मरीज भटकते रहे। डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष संदीप बडोला ने बताया कि उत्तर प्रदेश के सभी चिकित्सालयो में 2 घंटे का कार्य बहिष्कार जारी है, शासन और प्रशासन द्वारा कोई वार्ता नहीं की जा रही है जिससे मांगों पर समाधान नहीं हो पा रहा है।

महामंत्री उमेश मिश्रा ने बताया कि उत्तर प्रदेश का फार्मासिस्ट एकजुट है और संघर्ष के रास्ते पर है। लखनऊ के मंत्री अखिल सिंह ने बताया कि आज लखनऊ में रानी लक्ष्मीबाई चिकित्सालय राजाजीपुरम में जनपद शाखा का एक जोरदार प्रदर्शन हुआ जिसमें जनपद अध्यक्ष अरुण अवस्थी के नेतृत्व में जनपद के सभी पदाधिकारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में प्रांतीय अध्यक्ष संदीप बडोला कोषाध्यक्ष अजय पांडे सुशील त्रिपाठी सहित अनेक पदाधिकारी उपस्थित थे वहीं सिविल चिकित्सालय में कार्यकारी अध्यक्ष सुनील यादव की अध्यक्षता में प्रदर्शन किया गया । बलरामपुर चिकित्सालय में पूर्व महामंत्री के के सचान के नेतृत्व में प्रदर्शन हुआ वही लोकबन्धु चिकित्सालय मे सभी फार्मेसिस्ट प्रदर्शन में उपस्थित रहे।

संघ का कहना है कि फार्मेसिस्टों की अनेकों मांगे जनहित से जुड़ी हुई हैं व गैर वित्तीय मांगे हैं लेकिन उच्च अधिकारियों की उदासीनता के कारण फार्मेसिस्ट संवर्ग में अत्यंत प्रदेश भर में रोष व्याप्त है । वेतन विसंगति पदनाम परिवर्तन, पदों के मानकों में संशोधन प्रभार भत्ते में संशोधन नुस्खा लिखने का अधिकार देने आदि मांगों में स्वास्थ्य मंत्री के सकारात्मक दृष्टिकोण के बाद भी शासन स्तर पर कार्यवाही नहीं हो रही है जिस कारण मजबूर होकर फार्मेसिस्टों को आंदोलन का रास्ता चुनना पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight − seven =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.