Saturday , February 4 2023

विभिन्‍न राज्‍यों से आये उत्‍पादों की सिल्‍क प्रदर्शनी को निहारने पहुंचीं निहारिका

-मोतीमहल लॉन में चल रही है दस दिवसीय सिल्‍क प्रदर्शनी-2022

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। राजधानी स्थित मोती महल लॉन में 15 नवंबर से दस दिवसीय ‘सिल्क प्रदर्शनी-2022’ का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें पूरे भारत के अलग-अलग कोनों से आये व्यक्तियों ने तरह-तरह की साड़ी उत्पादों के स्टॉल लगाए हैं। शनिवार को एम एक्स प्लेयर की ‘शिक्षा मंडल’ सीरीज से प्रसिद्धि हासिल करने वाली अभिनेत्री डॉ निहारिका पोरवाल पहुंची। डॉ निहारिका ने इस प्रदर्शनी के हर एक स्टॉल पर जाकर उत्पादों को देखा।

प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए एम टीवी अभिनेता मोहनीश सेविटार ने कहा कि हमारी सरकार बुनकरों के काम को बढ़ावा दे रही है, ताकि उनका कारोबार आगे बढ़ता रहे।

2 लाख की साड़ी बनी चर्चा का विषय

प्रदर्शनी के आयोजक पी. अभिनंदन ने बताया कि “इस सिल्क प्रदर्शनी में अलग-अलग राज्यों से आये बुनकरों के पास विभिन्न प्रकार के मैटेरियल से बनी साड़ी, सूट, डिजायनर वेस्टर्न और ब्राइडल वियर सिल्क कॉटन साड़ी, कुर्ती, टॉप, खादी शर्ट, फैशन ज्‍वैलरी बेड शीट, भदोही की कालीन, ज्वैलरी और ड्राई फ्रूट जैसे उत्पाद रहे।” 

उन्‍होंने बताया कि प्रदर्शनी में कर्नाटक की बनी गोल्ड जरी वर्क से तैयार काँजीवरम सिल्क साड़ी को देखने के लिए ज्यादा लोग उत्साहित रहे, जिसकी कीमत दो लाख रुपये है, जबकि एक अन्‍य सिल्‍वर जरी वर्क की साड़ी की कीमत 1 लाख 40 हजार है। पी अभिनंदन ने बताया कि इस प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश की मलबरी सिल्क, जामदानी व जमावार सिल्क साड़ी उपलब्ध है। बिहार की जैविक टसर सिल्क साड़ी-सूट व दुपट्टा ड्रेस मटेरियल, तमिलनाडु की कांजीवरम सिल्क साड़ी व डिजायनर साड़ी व सूट, आंध्र प्रदेश की उप्पड़ा, गढ़वाल, मंगलगिरी व पोच्चम पल्ली साड़ी, पश्चिम बंगाल की बालूचरी, ढाका मशलीन, बुटीक व कांथा साड़ी छत्तीसगढ़ अनन्य कच्ची व कोसा सिल्क साड़ी व ड्रेस मटेरियल उपलब्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × two =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.