Monday , October 25 2021

बारिश से आधा यूपी पानी-पानी, जान-माल का भी नुकसान

-राजधानी लखनऊ स‍हित प्रदेश के 40 जिलों में बुधवार रात से हो रही बारिश, सड़कों के साथ ही अस्‍पताल, स्‍कूल, कार्यालय, दुकानें जलमग्‍न, प्रशासन ने जारी किया अलर्ट, कई जगहों पर ओलावृष्टि भी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के लगभग 40 जिलों में बुधवार देर शाम से भारी बारिश का सिलसिला जारी है। भारी बारिश के चलते जान-माल के भी नुकसान की खबर है। लखनऊ में ही दो बच्‍चों की गड्ढे में डूबकर और एक बच्‍चे की बिजली के खम्‍भे में करंट उतरने से मौत होने की खबर है। वहीं कई घरों को भी क्षति पहुंचने की खबर है। समाचार लिखने तक अनवरत बारिश से चारों ओर पानी-पानी ही दिख रहा है, सड़कों पर पानी, घरों में पानी, अस्‍पतालों में पानी, दुकानों में पानी, स्‍कूलों में पानी। लगातार हो रही बारिश से लोगों को गर्मी और उमस से राहत जरूर मिली है, लेकिन इस राहत की कीमत ऐसे चुकाना कोई नहीं चाहेगा। प्रशासन द्वारा अलर्ट जारी कर दिया गया है कि बिना जरूरत घर से बाहर बिल्‍कुल भी न निकलें। खुद अपने कार्यालय में भी जलजमाव का शिकार नगर निगम भी पानी निकालने की कोशिश कर रहा है।

इन सभी दिक्‍कतों को झेल रहे लोगों की परेशानी इससे और बढ़ रही है कि अभी अगले करीब 40 घंटों तक इस स्थिति से छुटकारा नहीं मिलने के आसार हैं। मड़ियांव थाना क्षेत्र के मोहिबुल्लापुर स्टेशन के पास 10 और 11 वर्ष के दो लड़कों की पानी में डूबने से मौत हो गयी जबकि  अलीगंज में 8 वर्ष के बच्‍चे की करंट से मौत की खबर है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव वाला क्षेत्र उत्‍तर प्रदेश से होकर गुजर रहा है इसलिए अभी अगले 40 घंटे यह बारिश जारी रहेगी। तकरीबन हर इलाके में पानी का भारी जमाव होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। उत्तरप्रदेश के अधिकांश हिस्से में बारिश का दौर लगभग अगले दो दिन तक थमने वाला नहीं है। लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी सहित आसपास के हिस्सों में बारिश का ये दौर अनवरत जारी रहेगा।

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह लो प्रेशर एरिया नॉर्थ एमपी में ग्वालियर की ओर से बढ़ रहा है। इसका असर आसपास के 500 किलोमीटर के दायरे में होता है। सिर्फ यूपी ही नहीं, बिहार और और मध्यप्रदेश के उत्तरी हिस्से पर भी होगा।

लखनऊ मौसम केंद्र के वैज्ञानिकों का कहना है कि लखनऊ समेत 40 जिलों में होने वाली बरसात इस सीजन में तीसरी बार है। 5 साल बाद सितंबर माह में इतनी बारिश हो रही है।

उत्तरप्रदेश के प्रमुख शहरों में बारिश का दौर रात से ही चल रहा है। यहां सड़कें लबालब है। लोग अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। कई इलाकों में पेड़ गिर गए हैं। निगम के कंट्रोल रुम में पूरे शहर से जल भराव की शिकायतें पहुंच रही है।

लखनऊ के नगर आयुक्‍त अजय कुमार द्विवेदी ने बताया है कि रात भर बारिश की वजह से शहर के कई क्षेत्रों में जल भराव हो गया है। इसके दृष्टिगत सभी 48 बाढ़ पम्पिंग स्टेशन अपनी पूरी क्षमता पर चल रहे हैं। कुकरैल में बेकफ़्लो होने के चलते सिंचाई विभाग से समन्वय करके गोमती बराज का गेट खुलवा दिया गया है ताकि तत्काल जल निकासी हो जाये। जल भराव के स्थलों पर अस्थायी पम्पिंग, पम्पसेट लगाकर किया जा रहा है। नगर आयुक्त एवं अन्य अधिकारियों, जलकल विभाग के अधिकारियों द्वारा क्षेत्र में भ्रमणशील होकर निरीक्षण किया जा रहा है एवं जल निकासी का प्रबंधन किया जा रहा है। उद्यान विभाग द्वारा जहां जहां पेड़ गिर गए हैं उनको हटाया जा रहा है एवं रास्ते क्लियर किये जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.