Monday , June 27 2022

उत्‍तर प्रदेश में और गहराया कोरोना संकट, 18,021 नये मरीज, 85 मौतें

-सीएम ऑफि‍स में भी कोरोना की दस्‍तक, योगी आदित्‍यनाथ ने खुद को किया आइसोलेट

-लखनऊ की स्थिति भी बिगड़ी, 18 मौतों के साथ मिले 5382 नये मरीज

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में कोविड संक्रमित मरीजों के आंकड़े भयावहता पैदा कर रहे हैं, एक दिन केस कम निकलने के पश्‍चात आज फि‍र तेज उछाल आ गया, 13 अप्रैल को जारी 24 घंटे की रिपोर्ट में राज्‍य में 18,021 नये मरीजों का पता चला है वहीं रोज होने वाली मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढा, बीते एक दिन में 85 लोगों की मौत हुई है। इस बीच मुख्‍यमंत्री कार्यालय में कुछ अधिकारियों के संक्रमित होने के बाद मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने स्‍वयं को आईसोलेट कर लिया है। वे अपना सारा कार्य वर्चुअल करेंगे। यह जानकारी मुख्‍यमंत्री के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से दी गयी है। उन्‍होंने कहा है कि मेरे कार्यालय के कुछ अधिकारी कोरोना से संक्रमित हुए हैं। ये अधिकारी मेरे संपर्क में रहे हैं, अतः मैंने एहतियातन अपने को आइसोलेट कर लिया है एवं सभी कार्य वर्चुअली प्रारम्भ कर रहा हूं।

बताया जाता है जिन अधिकारियों के संक्रमित होने की बात मुख्‍यमंत्री ने कही है उनमें मुख्यमंत्री के सचिव अमित सिंह, ओएसडी अभिषेक कौशिक, सीएम के प्रमुख सचिव एसपी गोयल के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर है। राज्‍य में सर्वाधिक प्रभावित राजधानी लखनऊ है, यहां पिछले 24 घंटों में 18 मौतें और 5382 नये संक्रमित पाये गये हैं। लखनऊ के साथ ही तीन अन्‍य जिलों प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर में भी बड़ी संख्‍या में संक्रमित पाये गये हैं, इन सभी जिलों में 24 घंटों में 1000 से ज्‍यादा नये मरीज पाये गये हैं।

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा 13 अप्रैल को जारी 24 घंटों की रिपोर्ट के अनुसार जिन 85 लोगों की मौत हुई है उनमें लखनऊ में 18, कानपुर नगर में 10, प्रयागराज में 8, गौतम बुद्ध नगर में 4, रायबरेली में 4, संभल में 4, वाराणसी में 3, प्रतापगढ़ में 3, मुरादाबाद, आगरा, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी, रामपुर, गोंडा, अमेठी में दो-दो लोगों की मौत हुई है जबकि मेरठ, झांसी, सहारनपुर, बलिया, अयोध्या, मथुरा, शाहजहांपुर, हरदोई, चंदौली, सोनभद्र, सुल्तानपुर, उन्नाव, संत कबीर नगर, भदोही, चित्रकूट, कानपुर देहात और अंबेडकरनगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

नए मिलने वाले 18,021 केस की बात करें तो लखनऊ में सर्वाधिक 5382, प्रयागराज में 1856, वाराणसी में 1404, कानपुर नगर में 1271, गोरखपुर में 602, झांसी में 503, मेरठ में 321, बरेली में 271, गाजियाबाद में 199, गौतम बुद्ध नगर में 229, मुरादाबाद में 155, आगरा में 234, सहारनपुर में 135, मुजफ्फरनगर में 150, बलिया में 271, अयोध्या में 139, बाराबंकी में 132, लखीमपुर खीरी में 112, जौनपुर में 156, देवरिया में 119, रायबरेली में 274, आजमगढ़ में 204, हरदोई में 146, इटावा में 138, गाजीपुर में 289, प्रतापगढ़ में 144, सोनभद्र में 183, सुल्तानपुर में 198, बांदा में 116, ललितपुर में 125 और मिर्जापुर में 118 मरीज पाए गए हैं। प्रदेश के शेष जिलों में प्रत्येक में नए मिलने वाले मरीजों की संख्या 100 से कम है। इस अवधि में 3474 लोगों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। इस प्रकार डिस्चार्ज होने वालों की कुल संख्या 6,18,293 हो गई है, प्रदेश में इस समय 95,980 सक्रिय मरीज हैं।