Tuesday , April 16 2024

एसजीपीजीआई के इमरजेंसी रेड जोन में बेड की क्षमता 12 से बढ़कर हुई 27

-निदेशक ने किया उद्घाटन, अब रेड जोन में 27, येलो जोन में 18 और ग्रीन जोन में 24 बेड व छह स्‍ट्रेचर बेड

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई के निदेशक, प्रोफेसर आरके धीमन ने आज ईएमआरटीसी में आपातकालीन चिकित्सा में15  बिस्तरों के नए रेड जोन का उद्घाटन किया, जिससे रेड जोन बिस्तर की क्षमता 12 से बढ़कर 27 बिस्तर हो गई। 30 बिस्तरों वाली आपातकालीन चिकित्सा को एसजीपीजीआई के ईएमआरटीसी भवन में 24 मई 2022 को स्थानांतरित कर दिया गया था। बीमारी की तीव्रता के आधार पर, इसे लाल/पीले और हरे क्षेत्र में संरचित किया गया है।

संस्‍थान द्वारा जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि ईएमआरटीसी में स्थानांतरित होने के बाद से, इमरजेंसी ने अपनी सेवाओं को पहले 60 बिस्तरों तक विस्तारित किया, और आज रेड जोन में 15 और बिस्तर जोड़ दिए गए हैं। अब छह स्ट्रेचर बेड के साथ रेड/येलो/ग्रीन जोन में  क्रमशः 27, 18  और 24 बेड हैं, आपातकालीन बिस्तरों की कुल संख्या अब 75 है।

चूंकि प्रत्येक स्ट्रेचर बिस्तर का उपयोग प्रति दिन दस बार किया जाता है,  इस प्रकार स्ट्रेचर पर देखभाल करने वाले और प्रबंधित किए जाने वाले रोगियों की संख्या लगभग 60/दिन है। साथ ही हाल ही में एसजीपीजीआई-कर्मचारियों के लिए आपातकालीन बिस्तरों को पांच से बढ़ाकर आठ कर दिया गया है। 15 बिस्तरों वाले नए रेड जोन-2 में वेंटिलेटरी सहायता की आवश्यकता वाले बीमार और अस्थिर रोगियों के लिए सात समर्पित बिस्तर हैं। अगला नियोजित विस्तार 20  बेड-टेली-आईसीयू और ईएमआरटीसी की पहली मंजिल पर एक समर्पित रेडियोलॉजी विंग के साथ मेजर /माइनर-ओटी, एंडोस्कोपी, ब्रोंकोस्कोपी और इंटरवेंशनल रेडियोलॉजी के साथ एक इंटरवेंशन जोन का है। सीटी, डीएसए की कमीशनिंग और एमआरआई की खरीद अपने अंतिम चरण में है। इससे एसजीपीजीआईएमएस में आपातकालीन देखभाल वाले जरूरतमंद मरीजों की देखभाल का मार्ग प्रशस्त होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.