14 साल की उम्र और ब्लड प्रेशर 220 से ऊपर, इस तरह हुआ कंट्रोल

टेनिस की बॉल के बराबर था पेट में ट्यूमर, पहली बार बच्चे के ऑपरेशन में किया रोबोट

मात्र 14 साल के बच्चे को इतना हाई ब्लड प्रेशर रहता था कि कंट्रोल करने के लिए बड़ों की तरह हाई डोज की तीन अलग-अलग दवा खानी पड़ती थी। हालत यह थी कि बच्चा पसीने में तरबतर रहता था। बच्चे की जांच में पता चला कि उसके पेट के अंदर टेनिस बॉल के साइज का ट्यूमर है। इसे साधारण सर्जरी से निकालना आसान नहीं था। देश में पहली बार बच्चों के मामले में रोबोट का प्रयोग किया गया। सर्जरी सफल रही। बच्चे का बीपी भी कंट्रोल हो गया।

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गंगाराम अस्पताल में रोबोटिक सर्जन डॉ. विवेक बिंदल ने कहा कि ट्यूमर बच्चे के अड्रेनल ग्लैंड को प्रभावित कर रहा था, जिससे ब्लड प्रेशर 220 से ऊपर था। जिस जगह पर ट्यूमर था वहां पर ब्लड की सबसे प्रमुख नली जाती है, सर्जरी के दौरान सबसे बड़ी चुनौती यह थी कि नली कट सकती थी। खून बहने से बीपी अचानक ड्रॉप होने का खतरा था। सर्जरी रोबोट से करने का फैसला किया गया, क्योंकि ट्यूमर कैंसर वाला भी हो सकता था। जहां पर टयूमर था, वहां पर हाथ से ट्यूमर को पूरी तरह से निकाल पाना आसान नहीं होता है।

 

डॉक्टर सतीश अग्रवाल ने कहा कि बच्चे के पेट का साइज बड़ों की तुलना में कम होता है, इसलिए रोबोट का यूज आमतौर पर बड़ों में ही होता है। लेकिन इस मामले में हमने ऐसा किया और यह सर्जरी सफल रही। हमें ट्यूमर का पूरा हिस्सा निकालने के लिए थ्रीडी विजन भी चाहिए था, इसलिए इसका यूज किया गया। डॉक्टर का दावा है कि देश में पहली बार 14 साल के बच्चे में टेनिस बॉल साइज लगभग 8 सेमी के ट्यूमर को रोबोट से पहली बार निकाला गया है।