Sunday , July 14 2024

डॉक्‍टरों के तबादलों में अनियमितता का मामला हाईकोर्ट में, सरकार से मांगा जवाब

-पीएमएस ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसियेशन, यूपी की याचिका पर जारी की गयी है नोटिस

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पीएमएस डॉक्टरों के तबादलों में भारी गड़बड़ी को लेकर पीएमएस ऑफिसर्स वेलफेयर एसोसियेशन, यूपी द्वारा महासचिव डॉ आर के सैनी के माध्यम से दायर याचिका में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने सरकार से जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 26 जुलाई को होगी।

जस्टिस आलोक माथुर ने यह आदेश याची की अधिवक्ता डॉ नूतन ठाकुर तथा सरकारी अधिवक्ता को सुनने के बाद दिया।

नूतन ठाकुर ने कोर्ट को बताया कि स्थानांतरण सत्र 2022-23 में सरकारी डॉक्टरों के तबादलों में भारी गड़बड़ी हुई है। इसमें अधिकतम अवधि पूर्ण कर चुके डॉक्टरों का तबादला नहीं किया जाना, बिना अवधि पूर्ण किये डॉक्टरों का तबादला तथा डीजी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य द्वारा बिना अधिकारिकता के लेवल 2, 3, 4 आदि के डॉक्टरों के तबादले शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इस संबंध में स्वयं डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने भी आपत्ति जताई है।

याचिका में इन डॉक्टरों के तदाबले निरस्त करते हुए इसके लिए उत्तरदायित्व निर्धारित किये जाने तथा नए तबादले पूरी तरह तबादला नीति के अनुसार किये जाने की प्रार्थना की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.