Monday , June 17 2024

Tag Archives: यूनानी

यूनानी उपचार से इस तरह रख सकते हैं दिल का खयाल

-दुनिया का सबसे बड़ा हत्‍यारा है हृदय रोग : डॉ आईएम तब्‍बाब सेहत टाइम्‍स लखनऊ। हृदय रोग (सीवीडी) दुनिया का सबसे बड़ा हत्यारा है, जो एक वर्ष में 17.3 मिलियन लोगों की जान लेता है। सीवीडी से होने वाली दुनिया की 80% से अधिक मौतें निम्न और मध्यम आय वाले …

Read More »

देश की स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था में यूनानी चिकित्सा पद्धति की सहभागिता पर कार्य करेगी नीमा यूनानी फोरम

-नवगठित फोरम की प्रथम बैठक में कम से कम मूल्‍य पर इलाज की उपलब्‍धता पर दिया गया जोर सेहत टाइम्‍स लखनऊ। नवगठित नीमा यूनानी फ़ोरम उ प्र ने यूनानी विधा के उत्थान और देश की स्वास्थ्य व्यवस्था में यूनानी की सहभागिता पर ज़ोर देने का निश्चय करते हुए भारत की …

Read More »

ऐलोपैथी, होम्‍योपैथी, आयुर्वेदिक हो या यूनानी, सभी फार्मासिस्‍टों ने 12 को विरोध की है ठानी

इप्‍सेफ के धरने को पूरा समर्थन, सौंपेंगे प्रधानमंत्री को ज्ञापन सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो लखनऊ। पुरानी पेंशन बहाली, राष्ट्रीय वेतन समिति का गठन, आयकर सीमा 8 लाख किये जाने, वेतन उच्चीकरण, पदों का पुनर्गठन, उच्च पदों का सृजन, मानक के अनुसार पद बढ़ाने, पेशेंट केयर एलाउंस, होम्योपैथ फार्मासिस्टो के पंजीकरण, डिप्लोमा …

Read More »

आयुर्वेद, होम्‍योपैथी, यूनानी डॉक्‍टरी की पढ़ाई के लिए प्रवेश केवल ‘नीट’ से

अगले साल 2019 में 5 मई को आयोजित होगी नीट   लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के समस्त राजकीय व निजी क्षेत्र के यूनानी, आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक चिकित्सा के महाविद्यालय में बीयूएमएस, बीएएमएस, बीएचएमएस पाठ्यक्रमों के लिए शैक्षणिक सत्र 2019-20 में प्रवेश केवल नीट के आधार पर लिये जाने …

Read More »

ये हैं वे अंग्रेजी दवाएं जो लिख सकते हैं आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सक

समय-समय पर उठने वाले विवादों पर विराम लगेगा लखनऊ. आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सकों के लिए लम्बे समय से विवाद का कारण  बने रहे विषय कि उन्हें अंग्रेजी दवाओं की सलाह लिखने का अधिकार है या नहीं, पर अब उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के बयान और शासन के आदेश के …

Read More »

सीएचसी और पीएचसी पर  डाक्टर जरूर रहे,  इसके लिए सरकार ने उठाया यह कदम

  15 तरह की अंग्रेजी दवाएं लिख सकेंगे आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सक लखनऊ.  उत्तर प्रदेश में ध्वस्त हो रही चिकित्सा सुविधाओं को पटरी पर लाने के लिए सरकार ने एक और कोशिश की है. इसके तहत आयुष के अंतर्गत संविदा पर कार्यरत डाक्टरों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक स्वास्थ्य …

Read More »