Monday , June 17 2024

बलरामपुर अस्‍पताल में जल्‍द ही बढ़ेंगी कैथ लैब, लेजर सर्जरी जैसी कुछ और सुविधाएं

-154वें स्‍थापना दिवस के मौके पर पत्रकार वार्ता में दी गयीं अनेक जानकारियां

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। 756 बिस्‍तरों वाले बलरामपुर अस्‍पताल में अब कुछ और सुविधाओं का इजाफा हो रहा है, पुरानी सुविधाओं को दुरुस्‍त किया गया है, जीवन रक्षक उपकरण वेंटीलेटर की सुविधा यहां 24 घंटे उपलब्‍ध करायी जा रही है। कैथ लैब, प्‍लास्टिक सर्जरी, लेजर सर्जरी की सुविधाओं सहित अन्‍य जानकारियां अस्‍पताल के 154वें स्‍थापना दिवस को लेकर 1 फरवरी को अस्‍पताल की ओर से आयोजित पत्रकार वार्ता में दी गयीं।

पत्रकार वार्ता में मौजूद निदेशक डॉ रमेश गोयल, मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षक डॉ जीपी गुप्‍ता, चिकित्‍सा अधीक्षक डॉ हिमांशु चतुर्वेदी ने विभिन्‍न जानकारियां दीं। डॉ जीपी गुप्‍ता ने बताया कि जल्दी ही अस्पताल में प्लास्टिक सर्जरी शुरू होगी, उन्होंने बताया कि अस्पताल में अब वेंटिलेटर की सुविधा 24 घंटे उपलब्‍ध है, इसके लिए पर्याप्‍त मैन पावर सुनिश्चित की गयी है। उन्होंने बताया कि कार्डियक के मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल में कैथ लैब की स्थापना की तैयारी की जा रही है, इसके बाद यहां मरीजों की एंजियोग्राफी व एंजियोप्लास्टी की जा सकेगी। डॉ गुप्ता ने बताया कि इसी प्रकार त्वचा रोगों में लेजर तकनीक से इलाज शुरू करने की दिशा में कार्य हो रहा है। उन्‍होंने बताया कि अस्‍पताल में बुधवार को ही एक रक्‍तदान शिविर आयोजित किया गया जिसमें 40 यूनिट ब्‍लड दान किया गया।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ हिमांशु चतुर्वेदी ने बताया कि अस्‍पताल में मॉड्यूलर ऑपरेशन थियेटर बनाने की तैयारी चल रही है। उन्‍होंने कहा कि अभी 8 ऑपरेशन थियेटर हैं जिनमें रोजाना 45 ऑपरेशन हो रहे हैं।

इस मौके पर राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत जिला तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ, जनपद,लखनऊ टीम के द्वारा हेल्थ प्रोफेशनल के प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंर्तगत बलरामपुर चिकित्सालय में  कार्यरत चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ एवं अन्य को तम्‍बाकू के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक किया गया। डॉ जीपी गुप्ता ने कहा कि धूम्रपान सहित तम्‍बाकू का किसी भी रूप में सेवन शरीर के लिए अत्यंत नुकसानदायक है। तंबाकू उत्पादों में मौजूद हानिकारक पदार्थ एसीटोन, टार, निकोटीन, कार्बन मोनोऑक्साइड हमारे शरीर को गंभीर हानि पहुंचाते हैं। इसके सेवन से मुख, हृदय, फेफड़े जैसे अंगों पर सर्वाधिक असर होता है।

इस मौके पर जे.पी.शर्मा, डॉ.मयंक चौधरी, ज़िला सलाहकार, विनोद सिंह यादव, सामाजिक कार्यकर्ता, डा. रजनीगंधा, साइकोलॉजिस्ट/काउंसलर, तम्बाकू उन्मूलन केन्द्र, बलरामपुर अस्पताल एवं कपिल वर्मा, डीआईओ सहित कई अन्‍य उपस्थित रहे। जे.पी.शर्मा, द्वारा कोटपा अधिनियम 2003 की जानकारी दी गई, साइकोलॉजिस्‍ट/काउंसलर द्वारा तम्बाकू छोड़ने के बारे लोगों को जानकारी दी गई तथा तम्बाकू छोड़ने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। सिगरेट एवं अन्य तंबाकू उत्पाद के सेवन से दूरी बनाए जाने के लिए लोगों का आह्वान किया गया।

निदेशक डॉ रमेश गोयल ने स्‍थापना दिवस के कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि 3 फरवरी को चिकित्सालय में सेमिनार आयोजित किया जायेगा साथ ही 6 फरवरी को गांधी भवन सभागार में सांस्‍कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया है। निदेशक डॉ गोयल ने इस मौके पर पत्रकारों को सम्‍मानि‍त भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.