Tuesday , September 27 2022

धर्मगुरुओं ने टीबी उन्मूलन में अपने पूर्ण सहयोग का दिया भरोसा

-टीबी को लेकर समुदाय को जागरूक करने में अहम भूमिका निभाएं धर्मगुरु : डीटीओ

-जिला क्षय रोग अधिकारी कार्यालय सभागार में धर्म गुरुओं का सम्मेलन आयोजित

सेहत टाइम्‍स  

लखनऊ। राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत बुधवार को जिला क्षय रोग अधिकारी कार्यालय सभागार में धर्म गुरुओं का सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता करते हुए जिला क्षय रोग अधिकारी  डॉ. कैलाश बाबू ने कहा- क्षय उन्मूलन में धर्मगुरुओं का महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। धर्मगुरुओं ने टीबी उन्‍मूलन में अपना पूरा सहयोग देने का भरोसा दिलाया।

जिला क्षय रोग अधिकारी ने कहा- देश को वर्ष 2025 तक टीबी मुक्त बनाने का संकल्प लिया गया है। जनपद लखनऊ में 24 से 26 हजार टीबी के केस प्रतिवर्ष मिलते हैं। समुचित जानकारी के अभाव और भ्रांतियों के कारण बड़ी संख्या में लोग देर से चिकित्सक के पास पहुंचते हैं, जिससे टीबी का संक्रमण फैलता है और मरीज के इलाज में ज्यादा समय लगता है।

जिला क्षय रोग अधिकारी ने धर्मगुरुओं से अपील की कि उनकी जब भी अपने समुदाय के लोगों से वार्ता हो तो उन्हें समझाएं कि टीबी पूर्णतया ठीक होने वाली बीमारी है। समाज में टीबी सभी वर्गों में समान रूप से पाई जाती है। अतः जब भी क्षय रोग के लक्षण महसूस हों तो तुरंत निकट के स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें, इसे छिपायें नहीं। टीबी का इलाज बिना चिकित्सक की सलाह पर बंद न करें। टीबी खांसने, थूकने से  फैलती है अतः मास्क लगाएं, खांसते समय मुंह पर कपड़ा अवश्य रखें, खुले में इधर-उधर न थूकें। टीबी का पूरा इलाज राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत निःशुल्क किया जाता है तथा रोगी को इलाज के दौरान पोषण के लिए 500 रुपये प्रतिमाह सीधे बैंक खाते में दिए जाते हैं। 

राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के जिला समन्वयक दिलशाद हुसैन ने बताया कि राज्य स्तर पर ‘टीबी हारेगा-देश जीतेगा’ अभियान के तहत 24 फरवरी से 24 मार्च तक एडवोकेसी, कम्युनिकेशन, सोशल मोबलाइजेशन (एसीएसएम) गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। इसके साथ ही इस अवधि में जनपद में 9 से 22 मार्च तक सघन क्षय रोगी खोज अभियान चलाया जाएगा।

सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाइजर अभय चंद्र मित्रा ने कहा – किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जनसमुदाय व प्रबुद्ध वर्ग की भागीदारी आवश्यक होती है, इसलिए क्षय रोग उन्मूलन में धर्मगुरुओं की भूमिका अहम है।

धर्म गुरुओं ने भरोसा दिलाया कि उनका पूरा प्रयास होगा कि क्षय उन्मूलन में वह अपना पूरा सहयोग प्रदान करेंगे।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से मौलाना मिर्जा वाहिद हुसैन व मौलाना जमाल काजिम, फादर अभिषेक सहाय और गुरु ज्ञाना लोका, राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के पब्लिक प्राइवेट मैनेजर समन्वयक रामजी वर्मा, लोकेश वर्मा, सौमित्र उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

9 + 4 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.