Wednesday , April 17 2024

पीजीआई के निदेशक ने कहा, वैक्‍सीन के बाद होने वाले कोरोना से स्थिति गंभीर होने व मौत का खतरा नहीं

-प्रो आरके धीमन ने की अपील, वैक्‍सीन जरूर लगवायें, कोरोना को हरायें

प्रो आरके धीमन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। संजय गांधी पीजीआई के निदेशक प्रो आरके धीमन ने अपील की है कि सभी लोग वैक्‍सीन जरूर लगवायें,  वैक्‍सीन का सबसे बड़ा लाभ यह है कि वैक्‍सीन के बाद अगर कोरोना होता है तो यह एक साधारण वायरल की तरह होता है। अगर मेरे वैक्‍सीन न लगी होती तो मेरी जो उम्र है, उसे देखते हुए मेरी हालत खराब हो गयी होती।

कोविड संक्रमित होने के बावजूद लोगों को लेकर उनकी फि‍क्र होम आईसोलेशन के दौरान भी जारी है। प्रो धीमन ने ‘सेहत टाइम्‍स‘ से बात करते हुए कहा कि वैक्‍सीन को लेकर किसी प्रकार का भ्रम न पालें। वैक्‍सीन के चलते ही हम कोरोना को पूरी तरह मात देने में सक्षम होंगे। इसके लगने के बाद होने वाले कोरोना में सिर्फ उतनी ही बीमारी रहती है जैसे किसी वायरल फीवर में होती है, वैक्‍सीन लगे होने के कारण कोरोना रोग गंभीर स्थिति में नहीं पहुंचता है, न ही वेंटीलेटर की जरूरत पड़ती है, न ही हॉस्पिटल में भर्ती होने की और मृत्‍यु की संभावना भी समाप्‍त हो जाती है।उन्‍होंने कहा कि इस समय 60 वर्ष से ऊपर के व्‍यक्तियों और 45 से ऊपर किसी बीमारी से ग्रस्‍त लोगों का टीकाकरण चल रहा है, इसमें लोग जरूर हिस्‍सा लें। उन्‍होंने कहा कि आगे भी वैक्‍सीनेशन को लेकर जैसे-जैसे सरकार की गाइडलाइन आये उस हिसाब से वैक्‍सीनेशन जरूर करवायें।

ज्ञात हो प्रो धीमन और उनकी पत्‍नी को कोरोना संक्रमण हो गया है। प्रो धीमन उन चिकित्‍सकों में शामिल हैं जिनके पहले दिन 16 जनवरी को ही वैक्‍सीन लगी थी, तथा उसके 28 दिन बाद दूसरा डोज लगा था। प्रो धीमन ने कहा कि मेरी सभी से अपील है कि कोरोना का संक्रमण दोबारा बढ़ रहा है, ऐसे में पूर्व में बतायी गये प्रोटोकॉल मास्‍क, दो गज की दूरी और समय-समय पर हाथों की सफाई आदि अवश्‍य करते रहें।