Friday , October 22 2021

वृद्धजन भी लें होली के पकवानों का आनन्‍द, बस इन बातों का रखें ध्‍यान

-शरीर के विषैले पदार्थों को निकालने का रखें ध्‍यान, हो जायेंगे बिल्‍कुल फ्रेश

-केजीएमयू के वृद्धावस्‍था मानसिक‍ रोग विभाग की डायटीशियन विद्याप्रिया से विशेष वार्ता

विद्या प्रिया


धर्मेन्‍द्र सक्‍सेना

लखनऊ। होली एक ऐसा त्‍यौहार है, जिसके रंग में बच्‍चे-बूढ़े सब रंग जाते है, रंग उल्‍लास के, उमंग के। ऐसे में बात जब खानपान की आती है तो मन तो मचल ही उठता है, लेकिन बुजुर्गों को अपने पाचन को लेकर बहुत ही सतर्क रहना पड़ता है। अब सवाल उठता है कि क्‍या खायें जो मजा भी आये और स्‍वस्‍थ भी रहें।

‘सेहत टाइम्‍स’ से किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय के वृद्धावस्‍था मानसिक रोग विभाग की डायटीशियन विद्याप्रिया से विशेष वार्ता की। विद्या प्रिया बताती हैं की होली के त्यौहार में वृद्धजन को अपनी सेहत का विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। विद्या का कहना है कि त्यौहार आने के कुछ दिन पहले से ही अगर वृद्धजन अपने खानपान में कुछ बदलाव ले आएं जैसे हल्का एवं फाइबर युक्त भोजन लें, हरी सब्जियां, छिलके वाली दालें एवं चोकरयुक्त रोटी का प्रयोग करें।

० दही मट्ठा एवं छाछ का इस्तेमाल करें।

० चीनी एवं चीनी से बनी चीजों का इस्तेमाल कम कर दें।

० हल्की कसरत या योग करते रहें।

० त्योहार के समय अपने शरीर को हाइड्रेट रखें जैसे कि नारियल पानी शिकंजी या सादा पानी पीते रहे।

० सुबह नाश्ते में दलिया, ओट्स, वेज सैंडविच लें।

० भोजन से पहले वेज सूप, फ्रूट सलाद खा लें जिससे आप हैवी खाना कम खाएंगे

० भोजन में दही, छाछ, रायता शामिल करें।

० गुजिया बनाने के लिए आटे का इस्तेमाल करें और उसमें भुनी सूजी, नारियल एवं सूखे मेवे भर सकते हैं जो सेहत के लिए ठीक है।

० गेहूं के आटे के नमक पारे बनाए और इस में पुदीने के पत्ते मिलाए जिससे स्नेक्स आयरन से भरपूर एवं हेल्दी होगा।

० भुने मखाने एवं ड्राई फ्रूट की नमकीन तैयार करें।

० यदि आप किसी के यहां होली मिलने जा रहे हैं तो घर से हेल्दी स्नैक्स खाकर निकलें।

० त्यौहार खत्म होने के बाद अपना हेल्दी रूटीन अपना लें, शरीर को आराम दें, ज्यादा प्रोटीन वाली चीजें जैसे दालें, चना, राजमा और साबुत अनाज खाएं

० व्यायाम करें, पूरे शरीर को डिटॉक्सिफाई (शरीर के अंदर के विषैले पदार्थ निकालना) करें, शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए एक लीटर पानी में एक नींबू की स्लाइस, पुदीने के पत्ते एवं खीरे के कुछ टुकड़े डालकर रात भर रखें और दूसरे दिन उसका सेवन करें इससे आपका शरीर फिर से फ्रेश हो जाएगा।