Wednesday , January 26 2022

चिकित्‍सा शिक्षा के लिए बहुविकल्‍पीय प्रश्‍नपत्र बनाना सिखाया जायेगा

-लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन 
प्रो तेजिंदर सिंह

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो 

लखनऊ। चिकित्सा शिक्षा के लिए बहुविकल्पीय प्रश्‍नपत्र तैयार करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन शनिवार 7 मार्च को यहां गोमतीनगर स्थित डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में किया जा रहा है। राष्ट्रीय स्तर की इस कार्यशाला में देश भर के अनेक मेडिकल कॉलेजों में कार्यरत 35 चिकित्सकों द्वारा भाग लिया जाएगा।

यह जानकारी लोहिया संस्थान के मीडिया प्रभारी डॉ विक्रम सिंह ने देते हुए बताया है कि संस्थान की मेडिकल एजुकेशन यूनिट द्वारा फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत डिजाइनिंग मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन पर एक राष्ट्रीय स्तर की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दुनिया भर में भर्ती परीक्षाओं में बहुविकल्पीय प्रश्न का प्रयोग होता है। इस कार्यशाला का उद्देश्य चिकित्सा शिक्षकों में बहुविकल्पीय प्रश्न बनाने में आने वाली मुख्य समस्याओं के बारे में अवगत कराना तथा इनको बनाने में आने वाली गलतियों से बचने के बारे में बताना है।

इस कार्यशाला में चिकित्सा शिक्षकों को बहुविकल्पीय प्रश्न बनाना सिखाया जाएगा जिससे कि अभ्यर्थी बहुविकल्पीय प्रश्नों का उत्तर विषय से संबंधित पूर्ण उपयुक्त जानकारी एवं समझ के उपरांत ही दे सकें न कि उत्तर कंठस्थ कर या अनुमान के आधार पर कर सकें। इस कार्यशाला की अध्यक्षता संस्थान के निदेशक प्रोफेसर एके त्रिपाठी करेंगे तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ बी सी रॉय राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित प्रो तेजिंदर सिंह शामिल होंगे।

आपको बता दें प्रो तेजिंदर सिंह सीएमसी लुधियाना में चलने वाले मेडिकल एजुकेशन से संबंधित अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम एफएआईएमईआर FAIMER के फाउंडर डायरेक्टर एवं एमसीआई द्वारा चिकित्सा शिक्षकों के लिए चलाए जाने वाले एडवांस कोर्स इन मेडिकल एजुकेशन के राष्ट्रीय सलाहकार रह चुके हैं। प्रो सिंह एमसीआई द्वारा चलाए जा रहे करिकुलम इंप्लीमेंटेशन सपोर्ट प्रोग्राम के एक्सपर्ट ग्रुप के सदस्य भी हैं।

डॉक्टर विक्रम के अनुसार इस कार्यशाला के साथ ही संस्थान में कार्यरत सभी चिकित्सा शिक्षकों के लिए कंप्लीमेंट्री बेस्‍ड मेडिकल एजुकेशन पर लेक्चर का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यशाला के संयोजक अध्यक्ष डॉ ज्योत्स्ना अग्रवाल तथा संयोजक सचिव डॉ मनीष कुमार सिंह व संयुक्त सहसंयोजक सचिव डॉ नवबीर पसरीचा हैं।