Tuesday , April 16 2024

केजीएमयू के डॉक्‍टरों ने दो माह के बच्चे के पेट से निकाला डेढ़ किलो का ट्यूमर

-गोरखपुर का रहने वाला बच्‍चा अब स्‍वस्‍थ, मिली अस्‍पताल से छुट्टी

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी केजीएमयू के पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग के डॉक्‍टरों ने दो माह के बच्‍चे के पेट से डेढ़ किलो वजन का ट्यूमर निकालकर बच्‍चे को नयी जिन्‍दगी दी है। बच्‍चा अब स्‍वस्‍थ है, तथा उसे अस्‍प‍ताल से डिस्‍चार्ज कर दिया गया है। ट्यूमर की गंभीरता का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि छह किलो के बच्‍चे के अंदर डेढ़ किलो का ट्यूमर पूरे पेट में फैल चुका था तथा उसने सभी अंगों को दबा रखा था।  

गोरखपुर के खोरबाद गाँव में रहने वाले विकास के दो माह के पुत्र के पेट में मां ने बचपन से एक गांठ महसूस की जो धीरे-धीरे बढ़ रही थी। विकास बताते हैं कि उन्‍होंने पहले अपने गाँव के डॉक्टर को दिखाया तो उन्‍होंने बच्चे को देख कर केजीएमयू रेफर  कर दिया। उन्‍होंने बताया कि हालांकि बच्‍चा दूध भी पी रहा था, तथा मल-मूत्र का त्‍याग भी कर रहा था लेकिन उसके पेट में गांठ बराबर बढ़ती जा रही थी जिसके कारण पेट फूल रहा था। इसके बाद 22 अगस्‍त को यहाँ पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग में विभागाध्‍यक्ष डॉ जेडी रावत और डॉ आनंद पांडेय ने बच्चे को देखा और डायग्‍नोसिस में पाया कि उसके पेट में एक बड़ा सा ट्यूमर है, जिसका तुरंत ऑपरेशन किया जाना आवश्यक है।

डॉ रावत ने बताया कि चूंकि बच्चा मात्र दो माह का था और ट्यूमर का आकर काफ़ी बड़ा था अतः ऑपरेशन में काफ़ी सावधानी की आवश्यकता थी, जो कि हमने बरती और सभी तैयारियां पूरी करने के बाद 30 अगस्‍त को सर्जरी की गयी। उन्‍होंने बताया कि ऑपरेशन के दौरान पाया गया कि ट्यूमर लगभग पूरे पेट में था और उसने बच्चे के बाक़ी सभी अंगों को चारों ओर दबा दिया था।

उन्‍होंने बताया कि सावधानीपूर्वक ऑपरेशन कर के ट्यूमर को सफलतापूर्वक निकाल दिया गया। बच्चे का वजन लगभग 6 किलो और ट्यूमर का वजन लगभा डेढ़ किलो था। ऑपरेशन के बाद बच्चे के पेट और शरीर में पानी जमा होने लगा था जो उपचार के उपरांत ठीक हो गया।

डॉ रावत ने बताया कि बच्चा अब स्वस्थ है और माता पिता अत्यंत प्रसन्नता के साथ उसे घर ले जा रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि ऑपरेशन करने वाली टीम में डॉ आनंद पांडेय , डॉ मुनि वर्मा, एनेस्थीसिया विभाग के डॉ सतीश वर्मा और  नर्स  सुधा  शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.