अस्‍पतालों में इलाज का आश्‍वासन न मिला तो दुकानें बंद करने पर मजबूर होंगे दवा व्‍यापारी

-लखनऊ केमिस्‍ट एसोसिएशन ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अपनी चिन्‍ताओं से अवगत कराया

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो    

लखनऊ। लखनऊ केमिस्ट एसोसिएशन ने दवा व्‍यापारियों के इलाज और जरूरत पड़ने पर हॉस्पिटल में बेड की व्‍यवस्‍था सुनिश्चि鎘त करने की मांग की है, ताकि दवा व्‍यापारी भयमुक्‍त होकर अपनी दुकानें खोल सकें जिससे जरूरतमंदों को दवाएं उपलब्‍ध होती रहें। एसोसिएशन का कहना है कि अगर प्रशासन ऐसा करना सुनिश्चि鎘त नहीं करता है तो हम बहुत समय तक अपनी दुकानें खोलना जारी रख पाने में असमर्थ होंगे।

एसोसिएशन के प्रवक्‍ता मयंक कुमार रस्‍तोगी ने एक विज्ञप्ति के माध्‍यम से जानकारी देते हुए कहा है कि लखनऊ केमिस्ट एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेश कुमार व महामंत्री हरीश शाह ने इस सम्‍बन्‍ध में जिलाधिकारी को पत्र प्रेषित कर अपनी मांग रखी है। जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि कोविड महामारी के मौजूदा हालातों के बीच हम सभी दवा व्यापारी अपने प्राणों की परवाह किए बिना जन सेवा में प्रतिदिन दवा बाजार खोलते हैं तथा सभी जरूरतमंद मरीजों को दवाई देते हैं। हमने बार-बार आप सब को अवगत कराया है कि कोरोना महामारी का प्रकोप एक बार फिर से अपने चरम पर है और इसकी दूसरी लहर पहली लहर से भी कहीं खतरनाक साबित हो रही है। शासन प्रशासन हमें कोरोना योद्धा तो मानता नहीं और न ही हम दवा व्यापारियों के लिए कोई संवेदनशीलता दिखाता है। किसी प्रकार की मदद हमें प्रशासन से नहीं मिल रही है और रोज़ाना दवा व्यापारी परिवार से कोई न कोई मौत की खबर लगातार आ रही है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस भय के वातावरण में कोई भी दवा व्यापारी अपनी दुकान नहीं खोलना चाहता क्योंकि हर समय परिवार तथा बच्चों की चिंता रहती है। हमारा संगठन समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए अपने सदस्‍यों को दुकान खोलने के लिए लगातार प्रेरित कर रहा है और प्रशासन से विनम्र शब्दों में मांग कर रहा है कि सभी दवा व्यापारियों और उनके परिवार वालों के लिए कोरोना पॉजिटिव होने की स्थिति में विशेष रूप से अस्पतालों में बेड की सुविधा मुहैया कराई जाए, जिससे हम भय और तनाव मुक्त होकर, बिना किसी अवरोध के,  दवा वितरण का कार्य सुचारु रूप से चलते रहे क्योंकि यदि दवा वितरण के कार्य में अवरोध आयेगा तो शहर में त्राहि-त्राहि की परिस्थिति पैदा हो जाएगी तथा यह बिलकुल स्पष्ट है कि बिना आश्‍वासन हम ज्यादा दिन तक कार्य करने में असमर्थ हैं। दवा व्‍यापारियों ने कहा है कि हमारा जिले के प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध है कि‍ हम दवा व्यवसायियों को इस महामारी के दौर में प्राथमिकता के आधार पर सुविधा दी जाए जिससे कि आगे चलकर किसी भी हमारे भाई या उसके परिवार में कोई मृत्यु न हो और हम सब समाज की भलाई के लिए इसी तरह प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कोरोना महामारी की लड़ाई लड़ते रहें, इसके लिए दवा व्यवसायी बहुत आभारी होगा रहेगा।