Monday , October 25 2021

प्रौद्योगिकी पर होगी जब अच्छी पकड़ तो होगा शक्तिशाली राष्‍ट्र का निर्माण

-इंदिरा गांधी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बांगरमऊ, उन्नाव ने आयोजित किया राष्‍ट्रीय वेबिनार

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

बांगरमऊ/लखनऊ। प्रौद्योगिकी के बारे में अच्‍छा ज्ञान आज प्रत्‍येक व्‍यक्ति के लिए आवश्‍यक है, प्रौद्योगिकी के जरिये बड़े से बड़े कार्य हम आसानी से और कम समय में करने में सक्षम हो पाते हैं। जब हम प्रौद्योगिकी के स्तर पर सहज और समृद्ध हो जाएंगे तो हम एक शक्तिशाली राष्ट्र के निर्माण में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं।

ये विचार राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज, बांदा, उ0प्र0 के रजिस्‍ट्रार व डीन पीजी एंड रिसर्च डॉ आशुतोष तिवारी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के एक वर्ष पूर्ण होने पर इंदिरा गांधी राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, बांगरमऊ, उन्नाव के भौतिक विज्ञान विभाग के तत्‍वावधान में आयोजित राष्‍ट्रीय वेबिनार में बतौर मुख्‍य वक्‍ता व्‍यक्‍त किये। इस वेबिनार का आयोजन राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में किया गया था तथा इसका विषय ‘शिक्षा में प्रौद्योगिकी का अनुप्रयोग और राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020’ था।

डॉ आशुतोष ने विभिन्न प्रकार की वेबसाइट और मुफ्त ज्ञान प्रदान करने वाले कोर्सेज और माध्यमों को प्रस्तुत करते हुये प्रौद्योगिकी से युक्त नागरिक बनने पर जोर दिया। उन्‍होंने यह भी स्पष्ट किया कि जब हम प्रौद्योगिकी के स्तर पर सहज और समृद्ध हो जाएंगे तो हम एक शक्तिशाली राष्ट्र के निर्माण में अहम भूमिका अदा कर सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि शिक्षकों, विद्यार्थियों और शिक्षा के क्षेत्र में जुड़े हुए विभिन्न संस्थानों को वर्तमान में प्रौद्योगिकी को हर स्तर पर बढ़ावा देना चाहिए।

वेबिनार का प्रारंभ आयोजन सचिव राजीव यादव द्वारा विषय प्रस्तावना प्रस्तुत कर किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ0 सदानंद राय द्वारा मुख्य वक्ता, विभिन्न महाविद्यालयों से जुड़े प्राध्यापकों व छात्र-छात्राओं का स्वागत कर प्रस्तावित विषय पर अपने विचार प्रस्तुत करते हुए कार्यक्रम प्रारंभ किया गया।

कार्यक्रम के अंत में संयोजक धर्मेंद्र कुमार द्विवेदी, असिस्टेंट प्रोफेसर- भौतिकी द्वारा मुख्य वक्ता, प्राचार्य, अन्य प्राध्यापकों, छात्र-छात्राओं के प्रति आभार व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में महाविद्यालय की प्राध्यापक डॉ0 रंजना सिन्हा, डॉ0 शिखा यादव, डॉ0 विष्णु मिश्रा, डॉ0 दिग्विजय नारायण, सविता, किरण, सविता राजन, अभय राजपूत आदि जुड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + eight =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.