Thursday , December 2 2021

शासन की विशेष अपील हाईकोर्ट से खारिज, संविदा एमपीडब्‍ल्‍यू के चेहरे खिले

-प्रशिक्षण की मांग को लेकर 27 जुलाई से बेमियादी सत्‍याग्रह आंदोलन चल रहा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। बीती 27 जुलाई से यहां परिवार कल्‍याण निदेशालय में चल रहे संविदा एमपीडब्‍ल्‍यू के बेमियादी सत्‍याग्रह के आंदोलनकारियों के चेहरों पर आज उस समय संतोष के भाव दिखायी दिये जब इस मसले पर हाईकोर्ट की डबल बेंच ने शासन की विशेष अपील खारिज कर दी। कंटेम्प्ट पर सुनवाई कल होगी। धरना आज भी जारी रहा।

यह जानकारी देते हुए संविदा एमपीडब्‍ल्‍यू एसोसिएशन के मीडिया प्रवक्‍ता सैयद मुर्तजा ने बताया कि शासन ने संविदा एम.पी.डब्ल्यू. के खिलाफ विशेष अपील S.P.L.D. – 631/2021 योजित की थी जो आज खारिज हो गई। संगठन संरक्षक विनीत मिश्रा ने बताया कि शासन की विशेष अपील खारिज होने से संविदा एम.पी.डब्ल्यू.साथियों का जहां मनोबल बढ़ा है वही शासन प्रशासन की हार हुई है।

उन्‍होंने बताया कि प्रशिक्षण दिलाए जाने संबंधी पत्रावली पूर्ण है और अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के कार्यालय में संस्‍तुति के लिए पड़ी है। उस पर निर्णय लेने की बजाय शासन ने विशेष अपील दायर की थी, जिसे न्‍यायालय द्वारा खारिज कर दिया गया। उन्‍होंने बताया कि कल उच्च न्यायालय याचिका संख्या 59726/ 2015 में पारित अंतरिम आदेश दिनांक 16 अगस्त 2015 पर प्रचलित कंटेम्प्ट संख्या – 5520/2016 पर सुनवाई करेगा। इसमें भी अपर मुख्य सचिव को पिछली डेट में कंडीशनल अपीयरेंस का आदेश हो चुका है।

संक्रामक रोगों की विभीषिका चरम पर है कमान जनपदों में बच्चों से लेकर के बूढ़ों तक संक्रामक रोगों की मार पड़ी है मुख्यमंत्री दौरा करने पर विवश है इसके बावजूद इस महत्वपूर्ण विषय पर अपर मुख्य सचिव कोई निर्णय नहीं ले रहे हैं। संपूर्ण उत्तर प्रदेश में 45000 कर्मचारियों की जगह मात्र 2000 से भी कम कर्मचारी कार्य कर रहे हैं विभाग में पिछले 32 वर्षों से प्रशिक्षण का कार्य ठप पड़ा है वर्ष 1989 में अंतिम बैच को प्रशिक्षण दिया गया था प्रशिक्षित पुरुष कर्मचारियों के अभाव में पुरुषों के पदों पर महिलाओं को रखने का प्रयास किया जा रहा है जो नियमावली में निर्दिष्ट कार्य एवं दायित्व का घोर उल्लंघन है।

आज के आंदोलन की अध्यक्षता कर रहे जनपद कानपुर के सगीर मोहम्मद, जिलाअध्यक्ष विपिन यादव एवं संजीव शर्मा के द्वारा इस प्रकरण पर अविलंब निर्णय लिए जाने संविदा कार्मिकों को प्रशिक्षण दिलाये जाने की अपर मुख्य सचिव से अपील की गई। आज के आंदोलन में जनपद मैनपुरी, हाथरस, कानपुर, मुजफ्फरनगर और लखनऊ के आंदोलनकारियों ने भाग लिया। प्रशिक्षण के लिए किए जा रहे धरने को समर्थन देने के उद्देश्य से धरना स्थल पर बैठे संविदा एमपीडब्ल्यू के साथी गणों के परिवारी जनों ने भी हिस्सा लिया। महिलाएं धरना स्थल पर पूरे जोश-खरोश के साथ मौजूद रहीं, आगे आने वाले दिनों में यह संख्या और बढ़ने की बात कही जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × two =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.