Thursday , August 11 2022

जिम में जाना, फूड सप्‍लीमेंट लेना बन जाता है हार्ट की बीमारी का कारण

सबसे अच्‍छी कसरत, एक किलोमीटर 10 मिनट में टहलें

 

लखनऊ। आज का युवा वर्ग जिम में जाता है और विभिन्न प्रकार के फूड सप्लीमेंट लेता है, यह भी हार्ट डिजीज के कारण बनते हैं। हमे डायनामिक एक्सरसाइज करना चाहिए। वेट लिफ्टिंग और भारी एक्सरसाइज आम आदमी के लिए सही नहीं है। युवा लोगों के लिए सबसे अच्छा है कि वो 1 किलोमीटर की दूरी 10 मिनट में टहलें।

 

यहां चल रहे 3rd ACP India Chapter के तीसरे और अंतिम दिन डॉ0 के के तलवार ने कहा कि अच्छी फिजिकली एक्टिविटी बैलेन्स डाइट ले तनाव से दूर रहे गुड स्पिरिचुअल आदत को अपनाये। ये आदतें आपको हार्ट की बीमारी के साथ अन्य बीमारियों से भी बचाती हैं। पश्चिमी देशों में 40 वर्ष की नीचे की 5% आबादी एवं भारत मे 25% आबादी हृदय की बीमारी से ग्रसित है। हार्ट अटैक का सबसे ज्यादा कॉमन फैक्टर यंगर पीपल में स्मोकिंग, अल्कोहल ड्रिकिंग भी है।

 

 

डॉ0 के के तलवार द्वारा एक्यूट मायोकार्डियल इंफ्रक्शन (Acute Myocardial Infarction) पर ब्याख्यान दिया गया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक चेस्ट पेन हार्ट अटैक का पेन नहीं होता है। यदि हमारी छाती में तीक्ष्ण दर्द महसूस हो, दर्द चेस्ट के सेंटर में भी हो सकता है और वह हाथों की ओर जा रहा हो, दर्द लगातार 20 मिनट तक रहे, किसी एक्टिविटी को करने में परेशानी महसूस हो, सांस की कमी महसूस हो रही है तो हमें तुरंत चिकित्सक को दिखाना और ECG करना चाहिए। यह दर्द हार्ट अटैक का होता है। ऐसे लोगों को भी सजग रहना चाहिए जिनके माता-पिता में 55 वर्ष के पहले कोई हार्ट की दिक्कत रही हो तो उनको जेनेटिक भी हार्ट की दिक्कत हो सकती है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

19 + three =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.