Monday , December 6 2021

वाराणसी के डीआरडीओ अस्‍पताल की व्‍यवस्‍था चुस्‍त-दुरुस्‍त बनाने भेजा गया डॉ सूर्यकांत को

-चिकित्‍सा विभाग ने पहले भी भेजा था आगरा, कानपुर और मेरठ

डॉ. सूर्य कान्त

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं उपचार के लिए डीआरडीओ के तत्वावधान में संचालित पंडित राजन मिश्र कोविड चिकित्सालय की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाया जाएगा। इसके लिए चिकित्सा विभाग ने किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के रेस्परेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्य कान्त को दो दिवसीय प्रवास पर वाराणसी भेजा है। वहां की व्यवस्था को परखने के साथ ही जरूरी कदम उठाये जाने के बारे में डॉ. सूर्यकांत से संस्तुति मांगी गयी है ।

जिलाधिकारी वाराणसी द्वारा डीआरडीओ अस्पताल से समन्वय स्थापित करते हुए डॉ. सूर्य कान्त की अध्यक्षता में बनी इस एक सदस्यीय समिति को सहयोग प्रदान किया जाएगा। ज्ञात हो कि इससे पहले भी कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर काबू पाने के लिए डॉ. सूर्य कान्त को आगरा, कानपुर और मेरठ भेजा जा चुका है। कोरोना काल में उनके सराहनीय प्रयासों को देखते हुए ही राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन-उत्तर प्रदेश ने उन्हें कोविड टीकाकरण का ब्रांड एम्बेसडर भी नियुक्त किया है। इसके अलावा कोरोना से बचाव में प्रभावी दवा आइवरमेक्टीन पर डॉ. सूर्य कान्त व देश के अन्य वरिष्ठ विशेषज्ञों द्वारा एक श्वेत पत्र प्रकाशित किया गया था, जिसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर काफी सराहाना मिली और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी उसे अपनी वेबसाइट पर प्रदर्शित किया। इसके साथ ही इस दवा को स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना उपचाराधीनों के इलाज में भी शामिल किया है। इसके अलावा राज्य के एल-2 अस्पतालों और आईसीयू में मरीजों का इलाज कर रहे रहे चिकित्सकों को टेक्निकल सपोर्ट भी उनके द्वारा प्रदान किया जाता रहा है।