Wednesday , February 8 2023

कोरोना : सतर्कता बरतें, घबरायें नहीं, भीड़ वाले स्‍थानों पर लगायें मास्‍क

-नये वैरिएंट बीएफ-7 पर प्रो आरके धीमन की अध्‍यक्षता वाली सलाहकार समिति ने दी रिपोर्ट

-चिकित्‍सा शिक्षा विभाग ने यूपी के सभी चिकित्‍सा शिक्षण संस्‍थानों को जारी किये निर्देश

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। चीन व कुछ अन्‍य देशों में फैल रहे कोविड के नये वेरिएंट बीएफ-7 को लेकर सतर्कता बरतने के निर्देश भारत सरकार द्वारा जारी किये हैं। इसी क्रम में उत्‍तर प्रदेश सरकार द्वारा संजय गांधी पीजीआई के निदेशक प्रो आरके धीमन की अध्‍यक्षता में गठित सलाहकार समिति ने कोविड संक्रमण से निपटने के लिए गाइडलाइन तैयार की हैं, जिसे शासन द्वारा लागू करने के लिए सभी चिकित्‍सा शिक्षण संस्‍थानों को निर्देश दिये गये हैं।

इस सम्‍बन्‍ध में चिकित्‍सा शिक्षा विभाग की विशेष सचिव दुर्गा नागपाल द्वारा प्रदेश के सभी चिकित्‍सा शिक्षा संस्‍थानों को भेजे गये निर्देशों में सर्वप्रथम कहा गया है कि मौजूदा स्थिति को लेकर किसी भी प्रकार की घबराने की आवश्‍यकता नहीं है, बल्कि इसमें जरूरत सजगता और तत्‍परता बरतने की है। कोविड 19 के नये वैरिएंट बीएफ-7 से बचाव व उपचार के लिए तत्‍परतापूर्वक कार्रवाई करने की आवश्‍यकता है।

पत्र में कहा गया है कि जांच प्रक्रिया में तेजी लायें तथा रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव होने पर जीनोम सीक्‍वेंसिंग करायी जाये। इस समय जीनोम सीक्‍वेंसिंग लखनऊ में केजीएमयू तथा नोएडा में जिम्‍स में किये जाने की व्‍यवस्‍था है। कहा गया है कि डॉक्‍टर, पैरामेडिकल स्‍टाफ, मरीज और तीमारदारों के साथ् पूर्व की भांति कोविड प्रोटोकॉल का पालन शुरू कर दिया जाये। इसके साथ ही 60 वर्ष की आयु से ज्‍यादा और कोमार्बिड वाले लोगों का विशेष खयाल रखा जाये।

पत्र में कहा गया है कि कोविड वार्ड आरक्ष्रित कर लें, हेल्‍थ कर्मी की कमी पूरी कर लें। अगर किसी हेल्‍थ वर्कर को वैक्‍सीनेशन की बूस्‍टर डोज नहीं लगी है, तो उसे लगवा दिया जाये। इसके अतिरिक्‍त आईसीयू और एनआईसीयू की क्रियाशीलता परखते हुए दो दिनों के अंदर मॉकड्रिल कराने के निर्देश दिये हैं।       

प्रो आरके धीमन की अध्‍यक्षता में बनी सलाहकार समिति ने कोविड के नये वैरिएंट बीएफ-7 को लेकर पेश की अपनी रिपोर्ट में कहा गया है कि बिना घबराये हुए सतर्कता बरतना इस समस्‍या से निपटने का मूल मंत्र है। चीन की स्थिति पर गहरी नजर बनाकर रखें। कमेटी ने कहा है कि यूपी में आने वाली अंतर्राष्‍ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों की जांच आवश्‍यक है, अगर व्‍यक्ति पॉजिटिव निकलता है तो उसकी जीनोम सीक्‍वेंसिंग होनी चाहिये।

कमेटी ने सलाह दी है कि पब्लिक प्‍लेस पर और फ्लाइट जैसी बंद जगहों पर मास्‍क लगाया जाना चाहिये। बच्‍चों और वयस्‍कों के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जाना चाहिये। कमजोर इम्‍युनिटी वालों को बूस्‍टर डोज अवश्‍य लगवाना चाहिये। बचाव और सतर्कता बरतने के लिए जनता को इस तरह समझाना चाहिये कि उनमें घबराने वाली स्थिति पैदा न हो।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

nineteen + fifteen =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.