Wednesday , November 30 2022

एंटीबायोटिक्‍स डोज : अपने मन से बिल्‍कुल नहीं, डॉक्‍टर की सलाह पर अधूरा नहीं

एंटीबायोटिक्‍स के गलत उपयोग पर रैली और नुक्‍कड़ नाटर से किया जनता को जागरूक

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। इंटीग्रल यूनिवर्सिटी के फार्मा छात्रों ने सिविल अस्पताल से परिवर्तन चौक तक जागरूकता रैली निकालकर जनता को एंटीबायोटिक के दुरुपयोग को रोकने, अपने मन से दवाएं न लेने की सलाह दी। छात्र हाथों में पोस्टर और तख्तियां लिए थे। इस मौके पर फार्मेसी के छात्रों और प्रोफेसर के साथ फार्मेसी विशेषज्ञ भी उपस्थित थे। लोगों को बताया गया कि अपने मन से एंटीबायोटिक्‍स दवायें कतई न लें, और अगर डॉक्‍टर से ये दवायें लेने की सलाह दी है तो बिना डॉक्‍टर की सलाह लिये अपने मन से बंद न करें।

कार्यक्रम की जानकारी देते हुए फार्मेसी कौंसिल के पूर्व चेयरमैन सुनील यादव ने बताया कि इंटीग्रल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ इरफान, डीन डॉ मिस्बाहुल हसन, डॉ वसीम, डॉ फारुक, डॉ कुलदीप सहित अनेक फैकल्टी के नेतृत्व में निकाले गये जुलूस में फार्मा डी, बी फार्मा, एम फार्मा, डी फार्मा के छात्र शामिल थे।

 

सुनील यादव ने बताया कि रैली के बीच मे हजरतगंज गांधी प्रतिमा पर नुक्कड़ नाटक कर जनता को जागरूक किया गया। उन्‍होंने बताया कि एक नाटक के माध्यम से एक ग्रामीण परिवार को अधूरी एंटीबायोटिक खाने के कारण गंभीर रूप से बीमार दिखाया गया सलाह दी गयी कि कभी भी एंटीबायोटिक का आधा अधूरा dose मत लें। वहीं सामान्य स्वास्थ्य की भी जानकारी दी गयी। लोगों को स्वच्छता अपनाने, औषधियों के सही प्रयोग की जानकारी देते हुए सलाह दी गयी कि औषधियां हमेशा उचित सलाह पर ही लें और केवल फार्मेसिस्ट से ही लें।

नुक्कड़ नाटक मंतशा, फरमान, आयुशी, रिया, मरयम, एरम, अवनीश, अर्जान आदि द्वारा किया गया। जागरूकता रैली के दौरान हजरतगंज से लेकर परिवर्तन चौक तक एंटीबायोटिक के सही प्रयोग की जानकारी के परचे भी बांटे गए।