Sunday , December 4 2022

एसजीपीजीआई कर्मियों के इलाज के लिए बनी 72 बेड की पृथक विंग

– आरटी पीसीआर, सीटी जैसी जांचों व दवा वितरण के लिए पृथक काउंटर की भी व्यवस्था

– निदेशक ने कहा, जरूरत पड़ने पर और बढ़ाएंगे बेड

सेहत टाइम्स ब्यूरो

लखनऊ। संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एस जी पी जी आई) प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य कर्मियों और उनके आश्रितों को चिकित्सा सुविधा एवं परामर्श दिए जाने के संबंध में 72 बेड सुरक्षित किए जाने के साथ ही कुछ महत्वपूर्ण व्यवस्थाएं की गई हैं ।

निदेशक  डॉ आर के धीमन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि संस्थान में कार्यरत सभी स्वास्थ्य कर्मियों
और उनके आश्रितों को ( नियमित कर्मी व उनके आश्रित पारिवारिक सदस्य) व संविदा कर्मी को चिकित्सा सुविधा एवं परामर्श के लिए हेल्थ केयर वर्कर वैलनेस टीम Healthcare workers Wellness team  तथा विभागीय हेल्थ केयर वर्कर सर्विलांस टीम  Health Care worker surveillance team का गठन किया गया है ।

निदेशक ने बताया कि उनकी भर्ती के लिए पुरानी OPD एरिया आर सी एच 2 में 72 बेड आवंटित कर क्रियाशील कर दिए गए हैं। इन बेड पर स्टाफ और उनके आश्रितों को ही भर्ती किया जाएगा। यदि आवश्यकता पड़ी तो भविष्य में अधिक बेड को बढ़ाए जाने के लिए अन्य स्थानों को भी चिन्हित किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमित स्वास्थ्य कर्मियों की जांच के लिए एक समर्पित सी टी स्कैन और एक्स-रे की व्यवस्था भी पी एम एस एस वाई भवन के भूतल मे की गई है, जो कि क्रियाशील हैं।

इसके अलावा कोविड संक्रमित स्वास्थ्य कर्मी के RTPCR  टेस्ट के लिए अलग से एक काउंटर पी एम एस. एस वाई भवन के भूतल में क्रियाशील किया जा रहा है।

निदेशक ने बताया कि इसके साथ ही उनकी दवाइयों के वितरण के लिए अलग से एक काउंटर न्यू ओपीडी भवन के एच आर एफ फार्मेसी में खोला जा रहा है जिससे उन्हे त्वरित  दवाई प्राप्त हो सके।  इसके साथ ही कोविड-19 संक्रमित हेल्थ केयर वर्कर्स को दवाई उपलब्ध कराने के साथ ही एक पल्स ऑक्सीमीटर( एक परिवार को एक)  उपलब्ध कराया जाएगा।