Sunday , November 28 2021

महिलाएं अपना ध्‍यान खुद रखें, खुद की उपेक्षा न करें, वरना हो जायेगा गड़बड़

-स्तन और सर्वाइकल कैंसर जागरूकता माह के अंतिम दिन राज्‍यपाल ने किया महिलाओं से आह्वान

-संजय गांधी पीजीआई ने साइकिल रैली, ब्रेस्‍ट कैंसर की स्‍क्रीनिंग सहित विभिन्‍न कार्यक्रम किये आयोजित

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा है कि महिलाओं को अपने स्वास्थ्य के प्रति स्वयं ही सचेत रहना होगा। लंबे समय से चली आ रही अपने स्वास्थ्य के प्रति उपेक्षा की प्रवृत्ति को उन्हें छोड़ना होगा। परिवार के प्रत्येक सदस्य की सेवा सुश्रुषा करते हुए वे अपने स्वास्थ्य के विषय में भूल जाती हैं। यह इसलिए अति आवश्यक है क्योंकि महिला किसी भी परिवार की धुरी है और एक स्वस्थ परिवार ही एक स्वस्थ समाज का निर्माण करता है।

राज्‍यपाल ने यह बात आज यहां संजय गांधी पीजीआई द्वारा स्तन और सर्वाइकल कैंसर जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत एक माह से चलाई जा रही जन जागरण गतिविधियों के समापन के मौके पर आज राजभवन पर साइकिल रैली को रवाना करते हुए अपने सम्‍बोधन में कही। जागरूकता माह अक्टूबर के अंतिम दिन आज संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान द्वारा अनेक रोचक और ज्ञानवर्धक प्रशिक्षण गतिविधियों का आयो‍जन किया गया। एसजीपीजीआई और पैडलयात्री नाम के एक उत्साही साइकिलिंग समूह के सहयोग से स्तन व सर्वाइकल कैंसर के शीघ्र निदान एवं उपचार पर जन जागरूकता के लिए एक साइकिल रैली का आयोजन किया गया। अपनी अपनी साइकिल पर गुलाबी गुब्बारे लिए लगभग 80 उत्साही साइकिलिस्ट राजभवन पर पहुंचे।

साइकिल रैली में इस ग्रुप के निदेशक राजेश कुमार वर्मा, उपनिदेशक वैभव रस्तोगी, सचिव आनंद पांडे व संजय गांधी पीजीआई के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ सुदीप कुमार शामिल हुए। इस रैली की विशेषता रही कि इसमें महिला साइकिल सवारों ने विशेष उत्साह दिखाया। यह रैली रूमी दरवाजा पहुंची। जहां महिलाओं ने स्वयं परीक्षण की शपथ ली। यह साइकिल रैली पीजीआई की हॉबी केंद्र पर पहुंचकर संपन्न हुई।

संजय गांधी पीजीआई के हॉबी केंद्र पर वाकाथॉन का भी आयोजन किया गया जिसे संस्थान के निदेशक प्रो आर के धीमन, डॉ प्रवीना धीमन, प्रो गौरव अग्रवाल व ब्रेस्ट एंड सर्वाइकल कैंसर जागरूकता व शीघ्र निदान टीम के सदस्यों ने झंडी दिखाकर रवाना किया।

संस्थान परिवार के चिकित्सकों, विद्यार्थियों, नर्सिंग एवं तकनीकी संवर्ग ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। लगभग 150 से अधिक सदस्यों ने इस वॉकाथॉन में प्रतिभागिता की। सभी प्रतिभागियों को गुलाबी टोपियाँ व गुलाबी टी-शर्ट प्रदान किए गए थे। गुलाबी रंग कैंसर जागरूकता को इंगित करता है। स्तन और सर्वाइकल कैंसर जागरूकता व शीघ्र निदान के बैनर लिए प्रतिभागियों ने कैंपस के 6 किलोमीटर का चक्कर लगाया। वॉकाथॉन का समापन संस्‍थान के हॉबी केन्द्र पर हुआ। उत्साही साइकिल रैली प्रतिभागियों और वॉकाथॉन के प्रतिभागियो को भेंट स्वरूप स्मृति चिन्ह प्रदान किए गए।

एक अन्‍य कार्यक्रम में संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान की ब्रेस्ट एंड सर्वाइकल कैंसर जागरूकता व शीघ्र निदान कार्यक्रम की टीम द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग की सहायता से मोहनलालगंज तहसील पर स्तन परीक्षण प्रशिक्षण सत्र का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में एएनएम, आशा कार्यकत्रियों, आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों ने भाग लिया।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो आर के धीमन ने इस बीमारी को शीघ्र पहचानने और इसके  उपचार संबंधी जागरूकता की आवश्यकता पर बल दिया। एक बार प्रशिक्षित हो जाने के पश्चात ये आशा कार्यकत्री अगले 2 वर्ष तक घर घर जाकर 35 से 65 वर्ष की आयु की महिलाओं को स्तन एवं गर्भाशय के मुख के कैंसर के लिए स्क्रीन करेंगी जिससे कि कोई भी महिला छूट ना जाए।

मोहन लाल गंज में हुए इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रतिभागियों को वर्चुअली आशीर्वाद दिया एवं सूचित किया कि स्तन व सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग का शुभारंभ राजभवन में किया गया, यहां एसजीपीजीआई की टीम ने 50 महिलाओं की स्क्रीनिंग की।

इस अवसर पर स्तन स्वास्थ्य कार्यक्रम के संयोजक एवं एसजीपीजीआई के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो गौरव अग्रवाल, तहसीलदार राजेश विश्वकर्मा, एडीओ प्रदीप कुमार, मोहनलालगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक डॉ ज्योति कामले भी उपस्थित थे। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में लगभग 100 सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने प्रतिभागिता की। बीसीसीएईडीपी टीम के अन्य सदस्य डॉ शगुन मिश्रा एवं डॉ नमिता महिंद्रा भी आज के कार्यक्रम में उपस्थित थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 3 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.