Friday , January 28 2022

मास्‍क के इस्‍तेमाल और हाथों को सेनिटाइज करने के तरीके बताये केजीएमयू के प्रोफेसर ने

वीडियो जारी कर लोगों को दी जानकारी
डॉ विनोद जैन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के सर्जरी विभाग के प्रोफेसर व पैरामेडिकल के डीन प्रो विनोद जैन ने आजकल चल रहे कोविड-19 महामारी से बचने के लिए लगाये जाने वाले मास्‍क के बारे में विस्‍तार से जानकारी देते हुए इसके पहनने और उतारने के तरीके की जानकारी एक वीडियो के माध्‍यम से दी है। इसके अलावा उन्‍होंने हाथों को सेनिटाइज करने के बारे में भी एक वीडियो जारी किया है।

यह जानकारी देते हुए डॉ विनोद जैन ने बताया कि अब तो उत्‍तर प्रदेश में सरकार द्वारा घर से बाहर निकलते समय सभी को मुंह और नाक ढंककर निकलना अनिवार्य कर दिया गया है। इन्‍हें ढंकने के लिए बाजार में बिकले वाले थ्री लेयर मास्‍क, कपड़े के बने मास्‍क के साथ ही अंगोछा, दुपट्टा का भी इस्‍तेमाल करने की सलाह दी है। उन्‍होंने बताया कि यदि कोई व्‍यक्ति बाजार से खरीदा हुआ मास्‍क इस्‍तेमाल करता है तो वह हमारे द्वारा बनाये हुए वीडियो से जानकारी ले सकता है, जिससे वह व्‍यक्ति संक्रमण से खुद बचा रह सकता है और दूसरों को बचा सकता है।

अंगोछा या दुपट्टा से ढंके मुंह और नाक, तो इस बात का रखें ध्‍यान

डॉ जैन ने बताया कि व्‍यक्ति यदि अंगोछा या दुपट्टे जैसे कपड़े की तीन परत बना कर मास्‍क के रूप में इस्‍तेमाल करता है तो उसके लिए यह सलाह है कि जब कपड़े को मास्‍क के रूप में इस्‍तेमाल करें तो पहले हाथों को सेनि‍टाइज करने के बाद ही कपड़े को मुंह और नाक पर अच्‍छी तरह ढंकते हुए बांधें। डॉ विनोद जैन ने बताया कि घर में घुसते ही पहला काम सीधे बाथरूम में जाकर कपड़े को उतारें, इसे उतारते समय सबसे ज्‍यादा सावधानी बरतने की जरूरत है, जब इसे खोलें तो हाथों को सेनिटाइज कर लें, साथ ही बांधे हुए कपड़े को खोलकर इधर-उधर न डालें, बल्कि तुरंत ही इसे गरम पानी में डिटरजेंट में आधे घंटे के लिए भिगो दें और अपने हाथ अच्‍छी तरह धो लें, उसके बाद कम से कम आधा घंटा बीतने के बाद इसे धोकर सुखा दें ताकि अगर इस कपड़े पर किसी प्रकार के वायरस हों तो वे डिटरजेंट से धोने के कारण नष्‍ट हो जायें।

प्रो जैन ने कहा कि सरकार ने भी सस्‍ते मूल्‍य पर खादी के मास्‍क बनवाने की घोषणा की है, ये मास्‍क धोकर दोबारा इस्‍तेमाल किये जा सकते हैं, इन रीयूज मास्‍क धोने के लिए भी वही तरकीब अपनानी है जो गमछा-दुपट्टा धोने के लिए बतायी गयी है। प्रो जैन ने यह भी बताया कि बहुत से लोग कपड़े के बने मास्‍क को बेहतर नहीं मानते हैं, तो इस बारे में मेरा यह कहना है कि रिसर्च में देखा गया है कि जब महामारी फैलती है तब हर व्‍यक्ति चाहे वह बीमार हो अथवा नहीं, अगर कपड़े का बना मास्‍क इस्‍तेमाल करता है तो संक्रमण का खतरा 50 से 70 प्रतिशत कम हो जाता है।

मास्‍क के लिए देखें वीडियो

हाथों को सेनिटाइज करने के लिए देखें वीडियो 

https://youtu.be/CjToxhoOBFI