Wednesday , April 17 2024

युवा न्यूरोसर्जन के लिए शैक्षणिक उत्सव से कम नहीं है सम्मेलन : डॉ राजकुमार

-देश-दुनिया के दिग्गज न्यूरो सर्जन्स का तीन दिन लखनऊ में जमावड़ा

-स्कल बेस सर्जरी सोसाइटी ऑफ इंडिया का वार्षिक सम्मेलन 27 अक्टूबर से

डॉ राजकुमार

सेहत टाइम्स

लखनऊ. संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ का न्यूरोसर्जरी विभाग स्कल बेस सर्जरी सोसाइटी ऑफ इंडिया (एसबीएसएसआई) के 24वें वार्षिक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है, एसबीएसएसआई न्यूरोसर्जरी के क्षेत्र में सबसे प्रतिष्ठित सोसायटी में से एक है। यह सम्मेलन तीन दिन चलेगा। इसमें देश-विदेश के लगभग 400 प्रतिनिधियों के भाग लेने की संभावना है। इस वार्षिक सम्मेलन का विषय “स्कल बेस सर्जरी को सुरक्षित बनाना” है, जो इस क्षेत्र के उभरते सर्जनों को अच्छे परिणामों के साथ इस जटिल उप-विशेषता को चुनने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

यह जानकारी देते हुए न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ राजकुमार ने बताया कि कॉन्फ्रेंस के पहले दिन यानी 27 अक्टूबर को एसजीपीजीआई न्यूरोसर्जरी ओटी में लाइव सर्जरी वर्कशॉप और किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ में कैडवेरिक वर्कशॉप होगी। 28 अक्टूबर को भारत के विभिन्न केंद्रों के वरिष्ठ प्रोफेसर अपने सर्जिकल अनुभव साझा करेंगे। वे न्यूरोसर्जरी की इस अत्यंत जटिल उपविशेषता की बारीकियां प्रदर्शित करेंगे।

इस वार्षिक सम्मेलन के अतिथि के रूप में न्यायमूर्ति राजीव सिंह (लखनऊ पीठ) शामिल होंगे. 29 अक्टूबर को, प्रतिष्ठित एसबीएसएसआई व्याख्यान विश्व प्रसिद्ध न्यूरोसर्जन प्रोफेसर सलीम अब्दुलरौफ द्वारा दिया जाएगा, जो सेंट लुइस विश्वविद्यालय में न्यूरोसर्जरी विभाग के संस्थापक प्रोफेसर और सेंट लुइस, मिसौरी में सेरेब्रोवास्कुलर और स्कल बेस सर्जरी के निदेशक हैं।

डॉ राजकुमार ने बताया कि जैसा कि हम जानते हैं, युवा न्यूरोसर्जन हमारे समाज के पथप्रदर्शक हैं, और वे अपने कौशल और विशेषज्ञता को बढ़ाने के लिए इस आयोजन में उत्साहपूर्वक भाग ले रहे हैं। यह स्कल बेस सम्मेलन प्रतिनिधियों के लिए एक शैक्षणिक उत्सव होगा,जिसमें वरिष्ठ न्यूरोसर्जन अपने आजीवन सर्जिकल अनुभव को सरल और समझने योग्य शब्दों में साझा करेंगे।

इस सम्मेलन में भारतीय उपमहाद्वीप के अलावा अमेरिका, जापान, ब्रिटेन, बांग्लादेश, नेपाल और मध्य पूर्व देशों के न्यूरोसर्जन भाग लेंगे। यह सम्मेलन न केवल राज्य बल्कि देश भर के प्रतिनिधियों के न्यूरोसर्जनों के ज्ञान और शल्य चिकित्सा कौशल को बढ़ाएगा। यह स्कल बेस वार्षिक सम्मेलन एसजीपीजीआई, केजीएमयू और आरएमएल संस्थान-लखनऊ के प्रयासों को प्रदर्शित करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.