Wednesday , November 30 2022

तब्‍लीगी समाज के लोगों को लेकर सख्‍त निर्देश दिये मुख्‍यमंत्री ने

-तब्लीगी जमात की गलतियों का खामियाजा दूसरों को नहीं भुगतने देंगे

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए किये जा रहे प्रयासों के बीच दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज तब्लीगी जमात में शामिल सैकड़ों विदेशी नागरिकों के उत्तर प्रदेश में आने के बाद से स्थितियां डराने वाली हैं, इन नागरिकों के प्रदेश में अनाधिकृत प्रवेश पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बेहद गंभीर हैं। योगी ने इन्‍हें शीघ्र ही गिरफ्त में लेकर मेडिकल कराने के साथ ही क्‍वारेंटाइन करने के निर्देश देते हुए कहा है कि अगर ये किसी भी प्रकार की अभद्रता करें तो इनसे सख्‍ती से निपटा जाये।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रदेश में अब तक बाहर से आने वाले 1330 चिन्हित हैं। इनमें से अधिकांश तब्लीगी जमात में शामिल थे। तब्लीजी जमात में 258 विदेशी नागरिक भी शामिल थे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि तब्लीगी जमात की गलतियों का खामियाजा पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों और प्रदेशवासियों को नहीं भुगतने देंगे। प्रदेश सरकार ने कई सख्त कदम उठाए हैं। तब्लीगी जमात में शिकरत करने वाले 200 से अधिक विदेशी नागरिकों के पासपोर्ट जब्त करने के साथ इनको नियंत्रण में भी रखा जाएगा। इनको उत्तर प्रदेश सरकार के नियमों का पालन करने को कहा गया है। जो बदसलूकी करें उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करें। उन्‍होंने कहा है कि तबलीगी समाज से जुड़े लोगों पर कड़ी निगरानी रखी जाए।

उत्तर प्रदेश में अब तक 1300 से अधिक तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों की पहचान की गई है, जिसमें 258 विदेशी नागरिक भी हैं। सरकार ने सख्ती बरतने का निर्देश दिया है और कहा है कि तबलीगी समाज से जुड़े लोगों पर कड़ी निगरानी रखी जाए। जो विदेशी हैं उनके पासपोर्ट जब्त कर जांच हो। इनमें से किसी ने भी कानून तोड़ा है तो इनके खिलाफ एनडीआरएफ एक्ट के तहत कार्रवाई हो। इनको जिन्होंने छुपाया है या अवैध ढंग से शरण दी है, उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई की जाए।

उन्‍होंने कहा है कि तबलीगी जमात से जुड़े जिन लोगों को क्वारेंटाइन किया गया है, उनकी सख्ती से निगरानी की जाए। सोशल डिस्टेंसिंग और हेल्थ के सारे प्रोटोकाल का सख्ती से उनसे पालन कराया जाए। लखनऊ में मिले 27 विदेशी जमातियों में 26 की रिपोर्ट निगेटिव है। एक की रिपोर्ट अभी आनी है। आपको बता दें कि लखनऊ में अमीनाबाद, मंडिय़ांव व काकोरी से 27 जमातियों को पुलिस ने खोजा था। यह सभी मस्जिदों में ठहरे हुए थे। ये सभी दिल्ली में हुई तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे।