Thursday , January 20 2022

केजीएमयू में कोरोना वायरस पीडि़तों का इलाज करने वाला रेजीडेंट डॉक्‍टर भी चपेट में

-आइसोलेशन वार्ड में काम करने वाले कुल 15 सदस्‍यीय टीम के बाकी 14 के नमूने जांच में निगेटिव पाये गये

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो 

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में भर्ती कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने वाली टीम के एक रेजिडेंट डॉक्टर को कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है, 15 लोगों की आइसोलेशन वार्ड में काम कर रही टीम में शामिल इस रेजीडेंट डॉक्‍टर के साथ काम करने वाले सभी 14 लोगों का नमूने की जांच की गयी है, ये सभी निगेटिव आये हैं।

केजीएमयू के मीडिया प्रवक्ता डॉ सुधीर सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि एक जूनियर रेजीडेंट में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है बाकी 14 लोगों के सैंपल लिए गए थे लेकिन वे सभी जांच में नेगेटिव पाए गए हैं। उन्होंने कहा है कि जिन चिकित्सक में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, वह ठीक हैं किसी भी तरह की क्राइसिस नहीं है।

केजीएमयू में डॉक्टर में कोरोना वायरस की पुष्टि के बाद अब यह बात सामने आ रही है कि केजीएमयू में छोटे-मोटे रोगों के लिए आने वाले मरीजों को फिलहाल रोक देना चाहिए, सिर्फ गंभीर मरीजों को ही इमरजेंसी में पूरी सतर्कता के साथ देखना चाहिए।