सुधर नहीं रहे केजीएमयू के चिकित्सक, रेजीडेंट्स व कर्मचारी

प्रो एमएलबी भट्ट

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्व विद्यालय की कार्यशैली में सुधार लाने के लिए नये कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट अपनी कोशिश में जुट गये हैं, लगभग रोज ही नसीहत का पाठ पढ़ाने वाले कुलपति की नसीहत का अभी पूरा असर चिकित्सकों से लेकर कर्मचारियों तक में नहीं दिख रहा है।

निरीक्षण में गायब मिले चिकित्सकों, रेजीडेंट्स व कर्मियों को कुलपति ने दी मौखिक चेतावनी

21 अप्रैल को जब अचानक कुलपति ने परिसर स्थित पुरानी ओपीडी, केंद्रीय स्टोर, ट्रॉमा सेंटर, शताब्दी फेज-2 अस्पताल का दौरा किया तो वहां कई चिकित्सक, रेजीडेंट्स, कर्मचारी समय से ड्यूटी पर उपस्थित नहीं मिले। हालांकि फिलहाल उन्होंने मौखिक चेतावनी से ही काम चलाया है।

छात्रों को पढ़ाया अनुशासन का पाठ

शुक्रवार को कुलपति प्रो भट्ट पहले कलाम सेंटर स्थित शैक्षिक कक्षाओं में पहुुंचे यहां पर उन्होंने 2013 व 2015 के बैच को सम्बोधित भी किया। कुलपति ने यहां छात्र-छात्राओं को अनुशासन के साथ रहने तथा समय से कक्षाओं में उपस्थित रहने को कहा। उनके साथ चिकित्सा संकाय के अधिष्ठाता एवं प्रॉक्टर मौजूद रहे।

ओपीडी में गायब मिले चिकित्सक

इसके बाद कुलपति पुरानी ओपीडी, केंद्रीय स्टोर, ट्रॉमा सेंटर, शताब्दी फेज-2 अस्पताल पहुंचे तो यहां ड्यूटी पर न मिलने वाले चिकित्सकों, रेजीडेंटों और कर्मचारियों को मौखिक चेतावनी देते हुए समय से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के निर्देश दिये। ओपीडी में गायब मिले चिकित्सकों के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें मरीजों के हित में समय से ओपीडी में आना चाहिये। इसी प्रकार उन्होंने स्टोर का निरीक्षण किया तथा वहां मौजूद अधिकारियों से दवाओं की उपलब्धता, रखरखाव तथा उपकरणों इत्यादि के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि औषधियों आदि का उपलब्धता समय पर होना सुनिश्चित की जाये।