अपनी मांगों को लेकर आईएमए का देशव्यापी सत्याग्रह

 

गाँधी जी को श्रद्धांजलि देकर बैठे सामूहिक उपवास पर

 

लखनऊ.  इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के तत्वावधान में चिकित्सकों ने अपनी मांगों को लेकर आज गांधी जयंती पर सामूहिक उपवास रख सत्याग्रह किया. आई एम ए हेड क्वार्टर के आहवान पर देशव्यापी सत्याग्रह में चिकित्सकों ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सत्याग्रह का रास्ता अपनाया.

 

आईएमए लखनऊ के अध्यक्ष डॉ पीके गुप्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि तय कार्यक्रम के अनुसार आज सुबह डॉक्टरों ने अपने-अपने सेंटर में मरीजों को देखा तथा उसके बाद रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आईएमए भवन में इकठ्ठा होकर राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद लगभग 12 बजे से सामूहिक उपवास रख सत्याग्रह आरम्भ किया. उपवास शाम 6 बजे तक चला.

 

डॉ. गुप्ता ने बताया कि आज आईएमए भवन में दिनभर निःशुल्क क्लिनिक भी चलाई गयी. उन्होंने बताया कि चिकित्सकों ने अपनी लंबित मांगों को लेकर चर्चा की तथा एक ज्ञापन केंद्र सरकार को भेजने का फैसला किया गया.

 

डॉ गुप्ता ने बताया कि इंटरमिनिस्ट्रियल कमेटी द्वारा पारित मुख्य संस्तुतियां जिसमें हेल्थ मिनिस्ट्री, लॉ मिनिस्ट्री, होम मिनिस्ट्री तथा उपभोक्ता मंत्रालय के प्रतिनिधि शामिल थे, उन्होंने एमसीआई तथा आईएमए के प्रतिनिधियों से वार्ता कर डॉक्टरों के हित में महत्वपूर्ण संस्तुतियां की थीं, लेकिन इसे अभी तक केंद्र सरकार द्वारा लागू नहीं किया गया है.

 

डॉ. गुप्ता ने बताया कि हमारी मुख्य मांगों में डॉक्टर्स एवं मेडिकल संस्थानों पर हिंसा, मारपीट एवं तोड़फोड़ के खिलाफ केन्द्रीय क़ानून बनाया जाना, प्रस्तावित क्लिनिकल इस्टेबलिशमेंट एक्ट में संशोधन कर छोटे संस्थानों को परिधि से बाहर रखना, पीसीपीएनडीटी एक्ट में संशोधन कर लिपिकीय त्रुटि को कानूनी अपराध की श्रेणी से बाहर किया जाना, मेडिकल नेग्लिजेंस के मामलों में उपभोक्ता द्वारा दायर क्षतिपूर्ति राशि को न्यायसंगत बनाना, आवासीय क्षेत्र में चल रहे क्लिनिक आदि को आवश्यक जनसुविधाओं के अंतर्गत रखकर लैंड यूज चेंज की परिधि से बाहर रखना तथा चिकित्सा व्यवस्था को सुचारु रूप से चलाने के लिए डॉक्टर्स का अलग से प्रशासनिक कैडर बनाने की मांग शामिल है.

 

उन्होंने बताया कि आज के इस सत्याग्रह में मुख्य रूप से डॉ रमा श्रीवास्तव, डॉ एएम खान, डॉ.रुखसाना खान, डॉ मनीष टंडन, डॉ सरिता सिंह, डॉ. संजय सक्सेना, डॉ. आरजे सिन्हा, डॉ.एसएचए रिज़वी, डॉ.सुमित सेठ, डॉ. वारिजा सेठ, डॉ. संजीव अवस्थी, डॉ. मनोज अस्थाना के साथ ही डॉ. पीके गुप्ता, डॉ. जेडी रावत ने शामिल होकर केंद्र और राज्य सरकार से डॉक्टरों की इन उचित मांगों को पूरा करने की अपील की.