Saturday , May 21 2022

लोहिया अस्‍पताल के ब्‍लड बैंक में अब और अधिक गुणवत्‍ता वाला रक्‍त

ग्रु‍पिंग एवं क्रॉस मैचिंग के लिए अब होगी Gel system से रक्‍त की जांच

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित डॉ राम मनोहर लोहिया संयुक्‍त अस्‍पताल स्थित ब्‍लड बैंक में अब रक्‍त को गुणवत्‍ता की और खरी कसौटी पर कसा जायेगा, यहां कॉलम एग्लुटिनेशन टेक्‍नोलॉजी (column agglutination technology) Gel system से रक्‍त की जांच शुरू की गयी है। जिला अस्‍पतालों में स्थित ब्‍लड बैंक में इस तरह की जांच की सुवि‍धायुक्‍त वाला यह पहला ब्‍लड बैंक बन गया है।

 

यह जानकारी देते हुए अस्‍पताल के निदेशक डॉ डीएस नेगी ने बताया कि मरीजों को रक्‍त देने के लिए ग्रुपिंग एवं क्रॉस मैचिंग के लिए अब कॉलम एग्लुटिनेशन टेक्‍नोलॉजी-जेल सिस्‍टम का प्रयोग शुरू कर दिया गया है। है। उन्‍होंने बताया कि यह प्रणाली ज्‍यादा प्रामाणिक और सुरक्षित है। इसमें गलत रिपोर्ट आने की सम्‍भावना बहुत कम होती है। इस प्रणाली से जांच में किसी भी एंटीजन एंटीबॉडी का पता आसानी से चल जाता है। पुरानी प्रणाली की अपेक्षा इस प्रणाली के परिणाम भी ज्‍यादा प्रामाणिक होते हैं।

 

उन्‍होंने बताया कि इस प्रणाली से ग्रुपिंग, सबग्रुपिंग, क्रॉस मैचिंग, एंटीबॉडी स्‍क्रीनिंग एवं कनफर्मेशन, डायरेक्‍ट एवं इनडायरेक्‍ट कूम्‍ब टेस्‍ट, एंटीबॉडी टाइटर, बाम्‍बे ग्रुपिंग, वीक डी, नवजात बच्‍चों की ब्‍लड ग्रुपिंग एवं अन्‍य टेस्‍ट किये जा सकते हैं। उन्‍होंने बताया कि इस समय रोजाना ब्‍लड बैंक में 80 से 100 रक्‍त एवं रक्‍त अवयव (ब्‍लड एंड ब्‍लड कम्‍पोनेंट) की सप्‍लाई की जा रही है जबकि 50 से 70 यूनिट ब्‍लड एकत्र हो रहा है।