Thursday , October 28 2021

हद हो गयी, परिणाम घोषित, अभिलेख भी जांचे जा चुके, अंतिम चयन सूची जारी करने में हीलाहवाली

-चयनित होम्‍योपैथिक फार्मासिस्‍टों ने किया अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग पर प्रदर्शन

-सचिव ने दिया आश्‍वासन, दशहरे से पूर्व जारी हो जायेगी अंतिम चयन सूची

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊरोजगार की आस में एक एक दिन काट रहे होम्योपैथिक फार्मेसिस्टों का सब्र आखिर टूट गया। 420 सीटों पर परिणाम आने, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के बाद भी अंतिम चयन सूची जारी न होने से नाराज सैकड़ों फार्मेसिस्टों ने आज अधीनस्थ सेवा चयन आयोग कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया, आयोग के सचिव ने आकर उन्हें समझाया और आश्वस्त किया कि दशहरे के पूर्व चयन सूची जारी हो जाएगी।

फार्मेसिस्ट फेडरेशन उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि ढाई वर्ष पूर्व 2019 में विज्ञापन संख्या 02 /2019 द्वारा होम्योपैथिक फार्मासिस्ट की भर्ती में उत्तीर्ण फार्मासिस्ट का अंतिम परिणाम को लेकर यह धरना आयोजित किया गया। भर्ती प्रक्रिया 2019 से चली आ रही है इसका अंतिम परिणाम आयोग ने 17 दिसंबर 2020 को निकाला था इसके बाद आयोग ने दोनों सूचियों का अभिलेख परीक्षण समय से करा लिया था, चयनित फार्मासिस्ट पिछले 10 महीने से अंतिम चयन सूची न आने से परेशान है। कई बार धरना देने के बाद भी इस समस्या का समाधान आयोग के अध्यक्ष और सचिव के द्वारा नहीं किया गया।

आयोग के सचिव ने चयनित फार्मासिस्ट छात्रों को अंतिम परिणाम 10 दिन में दशहरा तक जारी करने के आश्वासन के बाद चयनित छात्रों द्वारा 10 दिन की मोहलत देते हुए कहा कि अगर 10 दिन में अंतिम परिणाम आयोग नहीं घोषित करता है तो 18 अक्टूबर को सारे चयनित फार्मासिस्ट आयोग में अपने अंतिम परिणाम को लेकर अपना विशाल धरना प्रदर्शन करेंगे। आज के धरना प्रदर्शन में लगभग ढाई सौ फार्मेसिस्टों के साथ विवेक पाल, विवेक मिश्रा, अर्पित शर्मा, अंकित बासु, सौरभ गुप्ता, अभिषेक मिश्रा, दुष्यंत सिंह, सुशील, विवेक सिंह, रंजीत यादव, दिलीप, लक्ष्मी राणा, सोनम गुप्ता, ज्योति, नवीन मिश्रा आदि चयनित फार्मासिस्ट मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × four =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.