जेई से बचाव का टीका लगाने का अभियान एक सप्ताह बढ़ा

सिद्धार्थ नाथ सिंह

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा 90 प्रतिशत लक्ष्य हासिल, 78.30 लाख बच्चों को लग चुका

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने मस्तिष्क ज्वर की रोकथाम के लिए संवेदनशील 38 जनपदों में चलाए जा रहे विशेष टीकाकरण अभियान को एक सप्ताह के लिए और बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि गत 25 मई से शुरू हुए इस टीकाकरण अभियान के दौरान अभी तक 78.30 लाख बच्चों को जेई वैक्सीन लगायी जा चुकी हैं।
उन्होंने कहा कि टीकाकरण कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए व्यापक स्तर पर जनजागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। इसके फलस्वरूप अधिक से अधिक लोगों ने इस अभियान में बढ़-चढ़ कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित की और उन्होंने अपने बच्चों को मस्तिष्क ज्वर से बचने के लिए टीके लगवाए।

समस्या के समाप्त होने तक चलते रहेंगे ऐसे ही कार्यक्रम

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बच्चों के स्वस्थ जीवन और बेहतर भविष्य के लिए मस्तिष्क ज्वर से निपटने के लिए सरकार पूरी तरह गम्भीर है। जब तक यह समस्या जड़ से समाप्त नहीं हो जाती, तब तक इस प्रकार के कार्यक्रम आगे भी चलाए जाते रहेंगे। उन्होंने कहा कि जापानी इन्सेफ्लाइटिस बीमारी की गम्भीरता को देखते हुए इसके प्रभावी रोकथाम के लिए बीती 25 मई से 38 जनपदों में टीकाकरण का विशेष अभियान शुरू किया गया था। आज 11 जून को इस विशेष टीकाकरण अभियान का अंतिम दिवस था।

अगले सात दिनों में शत प्रतिशत लक्ष्य पाने के निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस 18 दिवसीय अभियान के दौरान एक वर्ष से 15 वर्ष तक के करीब 88 लाख बच्चों को जेई टीके लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिसके सापेक्ष लगभग 90 प्रतिशत का लक्ष्य 10 जून तक हासिल किया जा चुका है। इस विशेष उपलब्धि पर उन्होंने विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बधाई दी है। साथ ही निर्देश भी दिए है कि आगामी सात दिवसों में जेई टीकाकरण के शत-प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त किया जाए।

अधिकारियों को भी भ्रमण कर सहयोग करने के निर्देश

श्री सिंह ने कहा कि टीकाकरण के लिए बढ़ाए गए दिवसों में प्रदेश के 38 जनपदों के सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर यह अभियान सघन रूप से संचालित रहेगा। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे स्वयं क्षेत्रों का भ्रमण करें और अधिक से अधिक बच्चों को टीके लगवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिन जनपदों में अभी तक शत प्रतिशत टीकाकरण नहीं हुआ है, वहां हर हाल में इस लक्ष्य को हासिल किया जाए। टीकाकरण से कोई बच्चा छूटने न पाये इसके लिए हर सम्भव कदम उठाए जाएं। उन्होंने जनमानस से पुन: अपील की कि अधिक से अधिक अभिवावक अपने बच्चों का टीकाकरण कराएं, ताकि इस ज्वर को जड़ से समाप्त किया जा सके।