प्राइवेट अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन गैस के बगैर मरीज मर रहे हैं तो मरने दें…

-ऑक्‍सीजन गैस प्‍लांट के मालिकों ने बताया तो चौंक उठे सांसद

कौशल किशोर

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में ऑक्‍सीजन गैस के लिए त्राहि-त्राहि मची हुई है। प्राइवेट हॉस्पिटल्‍स ऑक्‍सीजन के अभाव में मरीजों को अस्‍पतालों से जाने को कह रहे हैं। जबकि जो मरीज कहीं भर्ती नहीं हो पा रहा है और उसे ऑक्‍सीजन की जरूरत है, उनके परिजन भी मारे-मारे फि‍र रहे हैं, एक जगह से दूसरी जगह, दूसरी से तीसरी जगह…।  

हाहाकार करती जनता इधर से उधर फोन पर फोन मिला रही है, मोहनलाल गंज क्षेत्र के सांसद कौशल किशोर चूंकि जनप्रतिनिधि हैं तो ऐसे में इनके पास भी अनेक लोगों के फोन आये। ऑक्‍सीजन की किल्‍लत को लेकर कौशल किशोर ने एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें उन्‍होंने कहा है कि लखनऊ के ऑक्सीजन गैस प्लांट के कुछ मालिकों ने मुझसे बताया कि‍ ड्रग इंस्पेक्टर ने प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस देने पर रोक लगा रखी है, और कहा है कि केवल सरकारी अस्पतालों में ही ऑक्सीजन गैस सप्लाई करें, प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस न दें, प्राइवेट अस्पतालों में मरीज मर रहे हैं ऑक्सीजन गैस के बगैर तो मरने दें।

यहां क्लिक करें और देखें वीडियो सांसद कौशल किशोर ने कया कहा

यह बात ऑक्सीजन गैस प्लांट के दो मालिकों ने मुझसे बताई इसके अलावा सैकड़ों लोग मुझे रोज फोन करके ऑक्सीजन गैस की डिमांड कर रहे हैं प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट मरीजों को अस्पताल के मालिक उन्हें अस्पताल से भगा रहे हैं उनका कहना है कि ऑक्सीजन गैस मिल नहीं पा रही है लखनऊ में हो रही ताबड़तोड़ मौतें ऑक्सीजन गैस ना मिलने की वजह से हो रही है इस संबंध में जब आज मैंने चार्ज लिए ड्रग इंस्पेक्टर से वार्ता की तो उन्होंने कहा कि मैंने किसी को मना नहीं किया इसलिए ऑक्सीजन गैस प्लांट के मालिकों से मेरा आग्रह है प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस की सप्लाई न रोके ऑक्सीजन की सप्लाई डिमांड के अनुसार पूरी करें ऑक्सीजन गैस के अभाव में मरने वाले लोगों की जान बचाएं।