Thursday , May 26 2022

विशिष्ट योगदान देने वाले 25 चिकित्सकों को हेल्थ आइकन अवॉर्ड

पीजीआई, केजीएमयू, लोहिया संस्‍थान पर दबाव कम करने के लिए जिलों में कैथ लैब लगेगी

 

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि स्वस्थ नागरिक राष्ट्र की समृद्धि के आधार स्तम्भ होते हैं। आम जन को स्वस्थ बनाए रखने जैसे महत्वपूर्ण कार्य चिकित्सकों द्वारा ही किया जाता है। इसलिए चिकित्सक का योगदान जनता एवं राष्ट्र के प्रति अद्वितीय है। उन्होंने कहा कि हेल्थ आइकन अवार्ड से चिकित्सकों को सम्मानित किया जाना सराहनीय कार्य है। चिकित्सक को समाज बड़े सम्मान की दृष्टि से देखता है और उसे धरती का भगवान मानता है। चिकित्सा के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान देने वाले चिकित्सकों को अवार्ड देना एक अच्छी बात है। इससे चिकित्सकों एवं चिकित्सा क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों का उत्साहवर्धन होता है।

 

श्री सिंह आज किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के साइंटिफिक कन्वेन्शन सेन्टर में आयोजित ‘हेल्थ आईकन अवार्ड्स सीजन-2’ समारोह का शुभारम्भ करने के उपरान्त अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जन सामान्य को उच्चस्तरीय उपचारात्मक सेवाएं उपलब्ध कराने में प्रदेश के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू), राम मनोहर लोहिया संस्थान एवं संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसजीपीजीआईएमएस) संस्थान का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि इन संस्थानों पर आने वाले मरीजों की संख्या का दबाव कम करने के लिए प्रदेश के चिन्हित जिला चिकित्सालयों में कैथ लैब (कैथराइजेशन लैबोरेटरी) की स्थापना कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। कैथ लैब के अंतर्गत एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी व अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

 

इस अवसर पर चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 25 चिकित्सकों को स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने हेल्थ आईकन अवार्ड से सम्मानित किया। जिनमें प्रो. एमएलबी. भट्ट, प्रो. राकेश कपूर, प्रो. दीपक मालवीय, डॉ. आरके. ठुकराल, डॉ. ऋषि सेठी, आशुतोष सोती, डॉ. सुमित रूंगटा, डॉ. अनुज माहेश्वरी, डॉ. विवेक आनंद सारस्वत, कमांडर सुमित घोष, डॉ. अनूप कुमार बाजपेई, सौरभ गर्ग, डॉ. हैदर अब्बास, डॉ. पुष्पलता संखवार, डॉ. संजय यादव, वैद्य प्रमोद जायसवाल, डॉ. विक्रम आहूजा, डॉ. यशपाल सिंह, डॉ. राकेश रवि द्विवेदी, डॉ. सुनीत कुमार मिश्र, डॉ. सचिन अवस्थी, डॉ. जीतेन्द्र तिवारी, डॉ. अरुण रायजदा, डॉ. नवनीत त्रिपाठी एवं डॉ. रेहान अहमद फारुकी शामिल हैं।