Friday , April 19 2024

राज्‍यपाल का छात्राओं से आह्वान, खाओ, पीयो, स्‍वस्‍थ रहो, मस्‍त रहो

-लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान में सर्वाइकल कैंसर से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

-छात्राओं का किया गया एचपीवी वैक्‍सीनेशन, मोटे अनाज को खाने में शामिल करने पर जोर

सेहत टाइम्‍स
लखनऊ। ‘खाओ पीयो स्वस्थ रहो, मस्त रहो‘‘ यह बात अपने सम्बोधन में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान लखनऊ में सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम के प्रति जागरूकता तथा एचपीवी टीकाकरण के लिए आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में कही।

कार्यक्रम में उपस्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों की छात्राओं, सकाय सदस्यों एवं कर्मचारियों इत्यादि को सम्बोधित करते हुये उन्होंने सभी को पौष्टिक आहार को अपने जीवन में शामिल करने पर विशेष बल दिया। राज्यपाल ने कहा कि‍ सबसे ज्यादा ध्यान बेटियों की तरफ होना चाहिए, क्योंकि आने वाले समय में वह मां बनेंगी, उन्हें सशक्त होना चाहिए, यदि वह अपनी ‘‘मुठ्ठी की ताकत‘‘ का इस्तेमाल करती हैं तो वह शारीरिक ही नहीं अपितु मानसिक तौर पर भी ताकतवर एवं संतुलित रहेंगी।

पौष्टिक आहार के सेवन पर प्रकाश डालते हुये राज्यपाल ने बताया कि वर्तमान में विश्वविद्यालयों एवं उनसे सम्बधित कॉलेजों के हॉस्टल के मेन्यू में हफ्ते में दो दिन बाजरा, कोदो, ज्वार, रागी, राजगीर एवं सांवा इत्यादि से बने व्यजंन दिये जाने लगे है। उन्होने कहा जो चीज हमारे लिए अच्छा हो उसे अपनाने में हमें देरी नहीं करनी चाहिए, यदि मोटे अनाज का हम सेवन नहीं करेंगे तो किसान उसे उगाना बंद कर देंगे, इसलिए हमें स्वस्थ शरीर के लिए इनका सेवन करना चाहिए। उन्होंने स्वस्थ वातावरण के लिए पौधरोपण पर जोर डालते हुये बरगद, नीम एवं आंवला इत्यादि के पेड़ों को लगाने की सलाह दी और कहा इसका फल हमें भविष्य में जरूर मिलेगा।

राज्यपाल ने अपने अनुभवों को साझा करते हुये कहा कि जीवन में हमें छोटी उम्र से ही बच्चों को सीखना-सिखाना, पढ़ना-पढ़ाना, एक दूसरे को सहयोग करना एवं परिवार में साथ रहना सिखाना चाहिए। यह सब कुछ आज के पारिवारि‍क शैली से विलुप्त होता जा रहा है, जिसके कारण सरकार को यह सब कुछ स्कूलों एवं कॉलेजों के माध्यम से सिखाना पड़ता है। सम्बोधन के अंत में उन्होंने सर्वाइकल कैंसर के प्रति जागरूकता के लिए छात्र-छात्राओं के लिए पेंटिग, निबंध इत्यादि स्पर्धा का आयोजन करने के लिए निर्देशित किया और विजेताओं के साथ-साथ उनके परिवार को सम्मानित (मुख्यतः माओं) को भी सम्मानित करने का सुझाव दिया।

संस्थान की निदेशक, प्रो सोनिया नित्यानंद द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी का स्वागत करते हुए कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला और यह स्पष्ट किया कि आज का यह एचपीवी टीकाकरण पांचवें चरण का टीकाकरण है। अब तक लगभग 4500 किशोरियों का टीकाकरण किया जा चुका है। कस्तूरबा गाँधी आवासीय बालिका विद्यालय की कार्यक्रम में उपस्थित लगभग 190 किशोरियों का निःशुल्क टीकाकरण किया जायेगा, जिसका पूरा श्रेय राज्यपाल को जाता है क्योंकि इसमें व्यय होने वाली धनराशि उन्हीं के द्वारा संस्थान को उपलब्ध करायी गयी।

कार्यक्रम में संस्थान द्वारा (JHPIEGO) कॉर्पोरेशन इण्डिया तथा लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान, लखनऊ के बीच समझौते पर भी हस्ताक्षर किया गया जिसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर किशोरियों एवं महिलाओं को कैंसर के प्रति जागरूक करना होगा।
कार्यक्रम में उपस्थित मंत्री, संसंदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा स्वास्थ्य, परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण, उ0प्र0 मंयकेश्वर शरण सिंह द्वारा राज्यपाल की प्रेरणा से संस्थान द्वारा किये जा रहे एचपीवी टीकाकरण मुहिम की सराहना के साथ ही यह उम्मीद जतायी गयी कि‍ शीघ्र ही अगर पूरे देश में नहीं, कम से कम उत्तर प्रदेश से यह कैंसर समाप्त हो जायेगा।

कार्यक्रम में उपस्थित उप मुख्यमंत्री एवं मंत्री चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा स्वास्थ्य, परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण, उ0प्र0 ब्रजेश पाठक ने सभागार में उपस्थित किशोरियों, संकाय सदस्यों एवं छात्रों को सम्बोधित करते हुये राज्यपाल द्वारा सर्वाइकल कैंसर जैसी बीमारी को बतौर चुनौती स्वीकार करने और उसके बचाव के लिए किये गये अथक प्रयासों की सराहना करते हुये सरकार और जनता की तरफ से उनका अभिवादन एवं आभार प्रकट किया। उन्होंने लोहिया संस्थान को सर्वाइकल कैंसर के रोकथाम के लिए किये जा रहे एचपीवी टीकाकरण कार्यक्रम की सफलता के लिए बधाई दी। उन्होंने संस्थान को ‘‘ग्रीन एनर्जी प्रोजेक्ट‘‘ से जुड़ने का भी सुझाव दिया, जिसमें सोलर पैनल के माध्यम से संस्थान को सस्ती बिजली उपलब्ध कराई जा सके।
डॉ0 नीतू सिंह, नोडल ऑफीसर, एचपीवी टीकाकरण द्वारा सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग, रोकथाम, उपचार, एचपीवी वैक्सीन के महत्व एवं वैक्सीन के साइड इफेक्ट से अवगत कराया गया।

कार्यक्रम में कस्तूरबा गाँधी आवासीय बालिका विद्यालय की उपस्थित किशरियों को सम्बोधित करते हुये पूनम तिवारी, सीनियर डायटीशियन ने पोषण सम्बन्धित आहार की जानकारी दी। उन्होंने अच्छी सेहत के महत्व पर प्रकाश डालते हुये ‘‘मुठ्ठी की ताकत‘‘ उदाहरण के माध्यम से पाँच पोषक तत्वों प्रोटीन, कैल्शियम, जिंक, आयरन एवं विटामिन-डी की शरीर में क्या भूमिका है और किन खाद्य पदार्थों के सेवन से यह हमें मिलेगे, के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

कार्यक्रम में राज्यपाल द्वारा कस्तूरबा गाँधी आवासीय बालिका विद्यालय की शिक्षिकाओं को सर्वाइकल कैंसर जागरूकता सम्बन्धी पोस्टर वितरित किया साथ ही किशोरियों को सर्वाइकल कैंसर तथा एचपीवी टीकाकरण के प्रति जागरूकता पुस्तिका तथा पोषण आहार वितरित किया गया। कार्यक्रम समापन के पश्चात् कस्तूरबा गाँधी आवासीय बालिका विद्यालय की लगभग 190 किशोरियों का निःशुल्क एचपीवी टीकाकरण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.