Wednesday , February 1 2023

स्‍वास्‍थ्‍ययुक्‍त सौंदर्य के लिए गांवों में प्रशिक्षण पर विचार करेगी सरकार

-ऑल इंडिया कॉस्‍मेटोलॉजिस्‍ट्स एंड ब्‍यूटीशियंस एसोसिएशन के 21वें वार्षिकोत्‍सव में उप मुख्‍यमंत्री ब्रजेश पाठक ने की घोषणा

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के उप मुख्‍यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा है कि आज से 15-20 वर्ष पूर्व ब्‍यूटी पार्लर शहरों में पाये जाते थे, लेकिन आज गांव-गांव में ब्‍यूटी पार्लर खुल रहे हैं, लेकिन प्रशिक्षित लोग नहीं चला रहे हैं, उनके पास लाइसेंस नहीं हैं, इस दिशा में सरकार कार्य करेगी कि उन्‍हें बाकायदा प्रशिक्षण देकर सार्टीफि‍केट दिया जाये जो कि आपकी संस्‍था (ऑल इंडिया कॉस्‍मेटोलॉजिस्‍ट्स एंड ब्‍यूटीशियंस एसोसिएशन) 20 साल से ज्‍यादा समय से कर रही है।

ब्रजेश पाठक ने आज गोमती नगर स्थित होटल हिल्‍टन में ऑल इंडिया कॉस्‍मेटोलॉजिस्‍ट्स एंड ब्‍यूटीशियंस एसोसिएशन के 21वें वार्षिकोत्‍सव एआईसीबीएकॉन-23 का उद्घाटन करने के बाद अपने सम्‍बोधन में कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य एवं सौंदर्य सम्‍बन्धित प्रशिक्षण एक स्किल्‍ड कार्यक्रम है तो इसमें सरकार भी बहुत सहयोग दे सकती है। कोरोना काल में चिकित्‍सकों के सहयोग की सराहना की।

उन्‍होंने कहा कि गांवों में खुले पार्लर में कार्य करने वालों को प्रशिक्षण देने पर सरकार विचार करेगी जिससे वे अपना कार्य पूरी स्किल के साथ करें साथ ही लोगों को हानि न पहुंचे क्‍योंकि कॉस्‍मेटिक का इस्‍तेमाल संवेदनशील होता है, कई बार गलत क्रीम लग जाती है जिससे चेहरे पर दुष्‍प्रभाव होता है, ऐसे में प्रशिक्षण में डॉक्‍टरों की भागीदारी होने से हानिरहित प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करके इस प्रकार की घटनाओं से बचा जा सकेगा। सौंदर्य और स्‍वास्‍थ्‍य के बीच के इस गैप को दूर करने के लिए ये संस्‍था लगी है उसका यह प्रयास सराहनीय है, साथ ही असरदार है तभी संस्‍था 21 वर्षों से लगातार यह कार्य कर पा रही है।

डॉ वैभव खन्‍ना

सुबह की धूप में दो घंटे का व्‍यायाम बरकरार रखेगा त्‍वचा की चमक : डॉ वैभव खन्‍ना

एसोसिएशन की महामंत्री डॉ रमा श्रीवास्‍तव ने आज के कार्यक्रम के बारे में बताया कि आज एक पैनल डिस्‍कशन हुआ जिसमें अनेक मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल, डीन, विशेषज्ञ शामिल हुए। पैनल डिस्‍कशन में संस्‍था के उपाध्‍यक्ष व वरिष्‍ठ प्‍लास्टिक सर्जन डॉ वैभव खन्‍ना ने एंटी एजिंग में नेचुरोपैथी की भूमिका के बारे में बताया कि त्‍वचा को सिर्फ ऊपर से मशीनों, लेजर से सही करने से कोई लाभ नहीं है जब तक कि उसका बेस सही नहीं होगा। इसके लिए सुबह उठकर दो घंटे धूप में एक्‍सरसाइज करनी चाहिये। इससे मसल्‍स बेस अच्‍छी हो जायेंगी। स्किन से फैट घट जायेगा, स्किन का ग्‍लो बढ़ जायेगा, सभी नसें खुल जायेंगी तो स्‍वत: स्किन टोन बढ़ जायेंगी। उन्‍होंने कहा कि सुबह से तात्‍पर्य जाड़े के दिनों में 7 बजे से 9 बजे तक तथा गर्मी के दिनों में प्रात: 6 बजे से 8 बजे तक कर लें।   

डॉ वैभव ने बताया कि इसके साथ ही खानपान पर ध्‍यान देने की सलाह देते हुए बताया कि भोजन नेचुरल और मौसमी होना चाहिये जो उस मौसम में आपके आसपास पैदा हो रहा है वही खाना है, इसके अलावा तीसरी बात ध्‍यान में रखने वाली है कि आप समुचित नींद लें। मौसमी फल अगर बेस ठीक नहीं रहेगा तो डॉ रमा ने बताया कि एसोसिएशन में छह विभिन्‍न देशों के डॉक्‍टर मेम्‍बर हैं, उन्‍होंने बताया कि आज के कार्यक्रम में ब्‍यूटी एक्‍सपर्ट डॉ ब्‍लॉसम कोचर सहित दिल्‍ली, मुंबई से अनेक विशेषज्ञ आये थे। उन्‍होंने बताया कि इन विशेषज्ञों ने कार्यक्रम के आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ऐसा कार्यक्रम दिल्‍ली, मुंबई में भी करवायेंगे। डॉ रमा ने बताया कि आज के कार्यक्रम में 200 से ज्‍यादा लोगों ने हिस्‍सा लिया। इस मौके पर संस्‍था के अध्‍यक्ष डॉ एके सिेंह ब्‍यूटीशियन ब्‍लॉसम कोचर भी उपस्थित थीं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eight − six =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.