Friday , May 27 2022

गाजियाबाद के साहित्यकार डॉ राजीव पाण्डेय ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

-भारत रत्न काव्य महोत्सव गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज


लखनऊ -गाजियाबाद। अंतर्राष्ट्रीय शब्द सृजन संस्था के संस्थापक अध्यक्ष डॉ राजीव कुमार पाण्डेय द्वारा भारत रत्न विजेताओं पर सृजित कविताओं को एक दिन में देश-विदेश के 301 कवियों द्वारा बारह घण्टों में ऑनलाइन लाइव काव्य पाठ कराकर इतिहास रचते हुए गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में स्थान बनाया है।
डॉ राजीव कुमार पाण्डेय द्वारा 21 नवम्बर2021 को एक ऑनलाइन भारत रत्न काव्य महोत्सव रखा गया था जिसमें भारत सहित विश्व के बीस देशों के कवियों ने भारत रत्न विजेताओं पर कविताएं लिखकर 12 घण्टों में 301 के कवि-कवयित्रियों ने फेसबुक लाइव कविता पाठ कर एक विश्व रिकॉर्ड को स्थापित किया। इस कार्यक्रम को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड द्वारा प्रदत्त शीर्षक “फर्स्ट ऑनलाइन पोयट्री शो ऑन दी थीम ऑफ भारतरत्न” पर किया गया। उपलब्ध रिकॉर्ड के आधार पर इसे गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज़ किया गया है।
शाहपुर बम्हैटा स्थित किसान आदर्श स्कूल के प्रधानाचार्य डॉ राजीव कुमार पाण्डेय सुप्रसिद्ध साहित्यकार हैं और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चलने वाली साहित्यिक संस्था के संस्थापक हैं जिनके दो सामाजिक उपन्यास एक हाइकु संग्रह 5 सम्पादित काव्य संग्रह एव अनेक साझा संग्रह प्रकाशित हैं। डॉ राजीव पाण्‍डेय को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अनेकों सम्मान मिल चुके हैं। वे जापान हिंदी कल्चरल सेंटर के भी सदस्य हैं।
इस साहित्यिक संस्था द्वारा इस रिकॉर्ड को बनाने में संस्था के पदाधिकारी ओंकार त्रिपाठी, अनुपमा पाण्डेय भारतीय, ब्रज माहिर, रजनीश स्वछंद, मैत्री मेहरोत्रा, डॉ रजनी शर्मा चन्दा,गार्गी कौशिक, डॉ श्वेता सिन्हा (अमेरिका) राजेश कुमार सिंह “श्रेयस” देवेन्द्र शर्मा देव कुसुमलता ‘कुसुम’ ने दिन-रात कठिन परिश्रम किया
संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारी एवं इस कार्यक्रम में प्रतिभाग कर चुके, लखनऊ के प्रसिद्ध साहित्यकार राजेश कुमार सिंह “श्रेयस ” ने बताया कि अभी एक चरण पूर्ण किया है दूसरे चरण में काव्यपाठ करने वाले कवियों की भारतरत्न विजेताओं पर लिखी कविता को संकलित कर एक ग्रन्थ का रूप दिया जा रहा है जिसका भव्य विमोचन किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.