Friday , December 3 2021

पीडियाट्रिक्स जैसे विभागों की वजह से है केजीएमयू देश में पांचव़ें नम्‍बर पर

केजीएमयू के पीडियाट्रिक्स विभाग का 64वां स्‍थापना दिवस समारोह मनाया गया

 

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सेल्बी हॉल में पीडियाट्रिक्स विभाग द्वारा 64वां स्थापना दिवस समारोह का आज आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार में चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव  डॉ रजनीश दुबे बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता केजीएमयू के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट द्वारा किया गया।

 

इस अवसर पर केजीएमयू के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट ने बताया कि पीडियाट्रिक्स विभाग द्वारा 64वां स्थापना दिवस समारोह मनाया जाना केजीएमयू के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि पूरे देश भर में चिकित्सा शिक्षा के मामले में केजीएमयू पांचवें नंबर पर आता है, जो कि गर्व का विषय है। उन्होंने पीडियाट्रिक्स विभाग द्वारा की जाने वाली चिकित्सा सेवा की प्रशंसा करते हुए कहा कि ऐसे विभाग और उनकी कार्यप्रणाली से ही आज केजीएमयू ने पूरे देशभर में अपनी अलग पहचान बनाई है।

 

मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार में चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ रजनीश दुबे ने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवा को लेकर बड़ी चुनौतियां हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केजीएमयू द्वारा दी जा रही चिकित्सा सेवाओं एवं चिकित्सा शिक्षा का लाभ प्रदेश के आमजन को मिल रहा है लेकिन यह प्रयास निरंतर जारी रखते हुए यह कोशिश होनी चाहिए कि स्वास्थ्य सुविधा का लाभ प्रदेश के हर नागरिक को उपलब्ध हो। इसके लिए सबको मिलकर प्रयास करने होंगे। इसके साथ ही उन्होंने आयुष्मान योजना को आगे बढ़ाने की अपील करते हुए इसका लाभ प्रदेश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने की बात कही।

 

कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि एसजीपीजीआई के न्यूरोलॉजी विभाग के प्रोफेसर यूके मिश्रा ने कहा कि मौजूदा समय में सरकारी चिकित्सा संस्थानों की प्रतिस्पर्धा निजी चिकित्सा संस्थानों से है, ऐसे में हमे निरंतर बेहतर चिकित्सा सेवा देने के लिए तत्पर रहने की आवश्यकता है।

 

इस अवसर पर कार्यक्रम की आयोजनकर्ता एवं पीडियाट्रिक्स विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ रश्मि कुमार ने विभाग की सालाना रिपोर्ट पेश करते हुए मरीजों को दी जाने वाली सुविधा एवं इलाज के साथ ही विभाग की प्रगति के बारे में भी अवगत कराया। इस अवसर पर पीडियाट्रिक्स विभाग द्वारा चिकित्सा क्षेत्र में अपनी उत्कृष्ट सेवा देने के लिए अपने कर्मचारियों को पुरस्कार से सम्मनित किया गया। स्वास्थ्य कर्मी विजय लक्ष्मी, प्रियंका गौड़, अनिल सिंह, राकेश, जगदीश कुमार, अमित कुमार, रितु चक्र एवं विवेक तथा हाल ही में केजीएमयू से सेवानिवृत होने वाले कर्मचारी शम्सुद्दीन, जन्नो तथा माया को चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ रजनीश दुबे तथा कुलपति द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

 

इस कार्यक्रम में पीडियाट्रिक्स विभाग द्वारा बच्चों के लिए एक चित्रकारी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया, जिसमें निधि को प्रथम पुरस्कार एवं समीर को द्वितीय पुरस्कार से नवाजा गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से फैकेल्टी ऑफ नर्सिंग डीन प्रोफेसर मधुमति गोयल, डॉ माला कुमार, डॉ सिद्धार्थ कुंवर, डॉ निशांत वर्मा, डॉ शालिनी अवस्थी, डॉ संजीव वर्मा सहित कई अन्य चिकित्सक एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।