Wednesday , October 5 2022

डॉ सूर्यकांत ने कहा, अगर सीएए का विरोध करना ही है तो…

-विरोध में तोड़-फोड़ न करने की अपील

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के पल्‍मोनरी मेडिसिन विभाग के विभागाध्‍यक्ष व इंडियन कॉलेज ऑफ एलर्जी अस्‍थमा एंड एप्‍लाइड इम्‍युनोलॉजी के अध्‍यक्ष डॉ सूर्यकांत ने मौजूदा समय में चल रहे नागरिक संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शनों पर अपनी राय रखते हुए वीडियो द्वारा एक अपील जारी की है।

देखें वीडियो- डॉ सूर्यकांत ने कहा, अगर सीएए का विरोध करना ही है तो…

56 सेकंड के इस वीडियो में डॉ सूर्यकांत ने कहा है कि विरोध करने वालों से उनकी अपील है कि इस कानून को एक बार पढ़ जरूर लें, उन्‍होंने कहा कि मैंने इसे पढ़ा है, और इसमें कहीं भी नागरिकता समाप्‍त करने जैसी बात नहीं कही गयी है। इसमें पाकिस्‍तान, अफगानिस्‍तान, बांग्‍लादेश के अल्‍पसंख्‍यकों जो वर्षों से भारत में रह रहे हैं, उन्‍हें नागरिकता देने का प्रावधान है।

उन्‍होंने कहा है कि पढ़ने के बाद भी अगर किसी को इसका विरोध करना है तो वह लोकतांत्रिक तरीके से विरोध जताये, इस तरह सड़कों पर उतर कर तोड़-फोड़ करके नहीं, क्‍योंकि इस तरह की तोड़-फोड़ करना कानूनन अपराध है।