Saturday , June 15 2024

कोशिकाओं से होने वाली पैथोलॉजी जांचों पर हुई विस्‍तार से चर्चा

-दस वर्ष पूर्व पहला साइटोकॉन आयोजित करने वाले केजीएमयू ने 11वां साइटोकॉन 2023 भी किया उन्‍हीं तारीखों में आयोजित

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। शरीर की विभिन्‍न कोशिकाओं से बीमारी का पता लगाने के लिए की जाने वाली पैथोलॉजी जांचों संबंधी नयी-नयी जानकारियों पर चर्चा के साथ 11वां साइटोकॉन 2023 शुक्रवार 15 सितम्‍बर को प्रारम्‍भ हुआ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनि‍वर्सिटी केजीएमयू के पैथोलॉजी विभाग द्वारा 15 और 16 सितंबर को कन्वेंशन सेंटर, केजीएमयू में साइटोपैथोलॉजी का राज्य स्तरीय सम्मेलन आयोजित किया गया है।

आयोजन सचिव प्रो अजय कुमार सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि‍ यह वास्तव में गर्व की बात है कि पहला साइटोकॉन भी हमारे विभाग द्वारा आयोजित किया गया था, और इस वर्ष हमने सुनिश्चित किया कि 11वां साइटोकॉन का आयोजन 10 साल पहले की तारीखों पर ही हो। उन्‍होंने बताया कि इस आयोजन की इस चुनौती को पूरा करने के लिए कुलपति प्रो सोनिया नित्‍यानंद व पैथोलॉजी के विभागाध्‍यक्ष प्रो यूएस सिंह ने मार्गदर्शन दिया।

इस वर्ष प्रोफेसर मधु कुमार, आयोजन सचिव, प्रोफेसर अजय कुमार सिंह और सह-संगठन सचिव डॉ. प्रीति अग्रवाल के साथ-साथ उनके सहयोगियों और निवासियों की टीम ने सपने को साकार करने के लिए लगन से काम किया।

उन्‍होंने बताया कि न केवल उत्तर प्रदेश, बल्कि महाराष्ट्र और जम्मू-कश्मीर जैसे सुदूर स्थानों से भी प्रतिनिधियों से 300 से अधिक पंजीकरण प्राप्त हुए। 70 पोस्टर और 30 मौखिक प्रस्‍तुतियां प्राप्त हुईं, जिनमें से वैज्ञानिक समिति ने पैथोलॉजी से संबंधित विभिन्न विषयों पर 46 पोस्टर और 24 मौखिक प्रस्तुतियों को अंतिम रूप दिया, इनमें विशेष रूप से साइटोडायग्नोसिस की भूमिका पर प्रकाश डाला।

उन्‍होंने बताया कि पहले दिन सर्जनों और चिकित्सकों के साथ-साथ प्रख्यात पैथोलॉजिस्‍ट्स उपस्थित रहे। इन्‍होंने कार्यक्रम में भाग लेने वाले बड़ी संख्या में जूनियर और सीनियर रेजीडेंट्स के लिए अपनी उपस्थिति, वार्ता, न्यायाधीशों और सलाहकारों की भूमिका के रूप में दर्ज करायी।

प्रोफेसर प्रणब डे (एनआईएमएस, जयपुर) ने “कम्प्यूटेशनल साइटोपैथोलॉजी: द न्यू पाथ अहेड” विषय पर डॉ. पीके अग्रवाल ओरेशन व्याख्यान दिया।

प्रोफेसर अतुल गुप्ता (आगरा), प्रोफेसर दीपाली जैन (एम्स, नई दिल्ली), प्रोफेसर नलिनी गुप्ता (पीजीआईएमईआर, चंडीगढ़), प्रोफेसर अमृता घोष (आईएमएस, बीएचयू), प्रोफेसर नुजहत हुसैन (आरएमएलआईएमएस, लखनऊ), प्रोफेसर दीपा रानी (एसएनएमसी, आगरा), डॉ. वैशाली वाल्के (एम्स, भोपाल), डॉ. निधि वर्मा (एमएएमसी, नई दिल्ली), डॉ. चयनिका काला (जीएसवीएम, कानपुर), डॉ. निशात अफरोज (एएमयू, अलीगढ़), डॉ. कचनार वर्मा (एमएलएन, प्रयागराज), डॉ. पल्लवी प्रसाद (एसजीपीजीआईएमएस, लखनऊ), संकाय के रूप में शामिल हुईं और हाल की प्रगति सहित विभिन्न विषयों पर चर्चा की।

दूसरा दिन दो समानांतर कार्यशालाएं आयोजित की जायेंगी, एक तरल आधारित साइटोलॉजी पर कलाम सेंटर में और दूसरा स्क्वैश साइटोलॉजी पर विभाग में आयोजित की जायेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.