Thursday , January 20 2022

आगरा के छह लोग कोरोनावायरस की चपेट में, अंतिम पुष्टि के लिए पुणे भेजे गये नमूने

-केजीएमयू की जांच में हुई है कोरोनावायरस की पुष्टि
जय प्रताप सिंह

लखनऊ चीन से शुरुआत होकर दुनिया भर में अपनी दहशत फैला रहे कोरोनावायरस की आगरा से आये छह मरीजों में पुष्टि हुई है। इन छहों लोगों के नमूनों को अंतिम पुष्टि के लिए पुणे की एनआईवी लैब में भेजा गया है। छह मरीजों में कोरोनावायरस होने की बात उत्‍तर प्रदेश के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के हवाले से समाचार एजेंसी भाषा द्वारा बतायी गयी है, इन मरीजों के नमूनों की जांच यहां किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय में हुई थी।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने मंगलवार को ‘भाषा’ को बताया ‘‘किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में जिन छह लोगों के टेस्ट किये गये थे, उसमें वे पॉजिटिव आये हैं। मगर केन्द्र सरकार के जो नियमन हैं उनके अनुसार देश में कहीं भी कोई नमूना पॉजिटिव दिखायी देगा तो एनआईवी पुणे से ही उसकी पुष्टि होती है।’’ उन्होंने कहा ‘‘एनआईवी से पुष्टि के लिये नमूने भेजे गये हैं। इसको हम लोग मानते हैं कि वे सभी ‘हाई रिस्क’ में हैं।’’

जयप्रताप सिंह ने कहा कि आगरा के निवासी वे सभी छह लोग पहले ही सफदरजंग अस्पताल में भेजे जा चुके हैं। इन सभी को कोरोना का संक्रमण है या नहीं यह पुणे की एनआईवी लैब से पता चलेगा। फिलहाल इन्हें ‘हाई रिस्क’ की श्रेणी में माना जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा ‘‘एक परिवार यूरोप में छुट्टी मनाने गया था, वह दिल्ली लौटा जहां उसके सभी रिश्तेदार इकट्ठा हुए। उन रिश्तेदारों में से कुछ आगरा के, कुछ दिल्ली के और कुछ नोएडा के थे। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग और केंद्र सरकार के जरिए प्राप्त सूचना के बाद हमने आगरा के परिवार को देखा। आगरा के परिवार के सैंपल लेने के बाद छह लोग पॉजिटिव पाए गए। दिल्ली के अनुरोध पर हमने उन्हें सफदरजंग अस्पताल भेजा है।’’ उन्होंने बताया ‘‘बाकी उनके परिवार के लोग और उनके नौकर या ड्राइवर वगैरह को हमने आगरा में ही उनके घर पर ही रखा है और उन्हें कहीं बाहर नहीं जाने की हिदायत दे दी गयी है। उनके नमूने भी पुणे भेजे गए हैं, वे अभी पॉजिटिव नहीं पाए गए हैं।’’