Thursday , June 30 2022

व्‍यापारियों का बड़ा ऐलान, कोविड संक्रमण के चलते बाजारों को रखेंगे बंद

-हजरतगंज, अमीनाबाद, चौक, नाका सहित कई क्षेत्रों के बड़े बाजार रहेंगे बंद

-तीन दिन बाद समीक्षा करके लेंगे दुकानें खोलने पर फैसला

-कुछ बाजारों को 15 से 21 अप्रैल तक बंद करने का किया गया है फैसला

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोविड-19 के कहर को देखते हुए व्‍यापारियों ने स्‍वत: लॉकडाउन जैसी स्थिति मानते हुए लखनऊ के मुख्‍य बाजारों हजरतगंज, अमीनाबाद, पांडेयगंज, नाका, स्‍वदेशी मार्केट, चौक सर्राफा बाजार को 15 अप्रैल से बंद करने का निर्णय लिया है, 18 अप्रैल को एक बार फि‍र से स्थिति की समीक्षा की जायेगी तब आगे बाजार खोलने पर निर्णय लिया जायेगा। जबकि झंडे वाला पार्क, स्‍टेट बैंक व्‍यापार मंडल और दिलदार मार्केट 15 से 21 अप्रैल तक बंद रहेंगे।   

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल महानगर अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल, कार्यवाहक अध्यक्ष जावेद बेग, महामंत्री लखनऊ सुरेश छाबलानी, लोहा व्यापार मंडल के महामंत्री रिपन कंसल, उत्तर प्रदेश युवा उद्योग व्यापार मंडल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष आकाश गौतम युवा अध्यक्ष आसीम मार्शल, महामंत्री अश्वि‍न वर्मा ने वर्तमान में लखनऊ की परिस्थितियों को देखते हुए लखनऊ के प्रमुख बाजारों को कल से लेकर स्थिति सामान्य होने तक बंद रखने का निर्णय लिया है।

संदीप बंसल ने कहा कि इस वक्त व्यापार से जरूरी जान बचाना है सरकार द्वारा लॉकडाउन घोषित किए जाने का इंतजार किए बिना व्यापारी समाज को अपने परिवार की और पूरे लखनऊ वासियों की चिंता करनी चाहिए इसलिए इसमें सहयोग करते हुए बाजारों को मुकम्मल तौर पर बंद रखा जाए खास तौर पर थोक एवं भीड़ वाले बाजार हैं वहां पर व्यापार बंद रखा जाए। रमजान की वजह से कुछ बाजारों में एक तरफ की पट्टी पर व्यापार हो एक दिन एक तरफ की दुकानें खुलें, दूसरे दिन दूसरी तरफ की। व्यापारी समाज स्वत: ही लॉकडाउन का पालन करें

संदीप बंसल ने कहा कि लखनऊ इलेक्ट्रिक मर्चेंट एंड कांट्रेक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष पराग गर्ग, लखनऊ लोहा व्यापार मंडल के अध्यक्ष मोहित अग्रवाल, महामंत्री रिपन कंसल, लखनऊ सर्राफा एसोसिएशन के महामंत्री प्रदीप अग्रवाल तथा कपड़े से जुड़ी भी सभी संस्थाओं ने इस बंदी में अपना समर्थन दिया है।