Friday , September 30 2022

खाने के बाद मीठा खाना है तो गुड़ खाइये, खून की सफाई के साथ ही गैस को भी करेगा छूमंतर

एक-दो नहीं अनेक गुणों की खान है गुड़, कई तरह की बीमारियां करता है ठीक

 

लखनऊ। तन्‍दुरुस्‍ती एक नियामत है। स्वस्थ बने रहना बहुत जरूरी है, और जब छोटी-छोटी बातों को ध्‍यान में रखकर अगर हम बड़ी-बड़ी बीमारियों को बचा सकते हैं तो आखिर क्‍यों न किया जाये। इन्‍हीं बातों में से एक है गुड़ का सेवन। कैसरगंज बहराइच में तैनात वरिष्‍ठ आयुर्वेदिक चिकित्‍साधिकारी डॉ देवेश कुमार श्रीवास्‍तव ने गुड़ के गुण बताते हुए कहा है कि गुड़ खाने से गैस की दिक्कत नहीं होती हैl उनका कहना है कि खाना खाने के बाद अक्सर मीठा खाने का मन करता हैं। इसके लिए सबसे बेहतर है कि आप गुड़ खाएं। मुंह का स्‍वाद भी बढ़िया हो जायेगा और लाभ भी होगा। उन्‍होंने बताया कि गुड़ का सेवन करने से आप हेल्दी रह सकते हैं।

 

 डॉ देवेश श्रीवास्तव

डॉ देवेश बताते हैं कि गुड़ मनुष्‍य की पाचन क्रिया को सही रखता है और रक्‍त भी साफ करता है, साथ ही मेटाबॉलिज्‍म भी ठीक करता है। उनका कहना है कि रोज एक गिलास पानी या दूध के साथ गुड़ का सेवन पेट को ठंडक देता है। इससे गैस की दिक्कत नहीं होती। जिन लोगों को गैस की परेशानी है, वे रोज़ लंच या डिनर के बाद थोड़ा गुड़ ज़रूर खाएं।

त्‍वचा को भी दमकाता है गुड़

उन्‍होंने बताया कि  गुड़ आयरन का मुख्य स्रोत है इसलिए यह एनीमिया के मरीज़ों के लिए बहुत फायदेमंद है। खासतौर पर महिलाओं के लिए इसका सेवन बहुत अधिक ज़रुर है। इसके अलावा त्वचा के लिए यह बहुत ही फायदेमंद है। गुड़ ब्लड से खराब टॉक्सिन दूर करता है जिससे त्वचा दमकती है और मुहांसे की समस्या नहीं होती है।

एनर्जी लेवल बढ़ा देता है

डॉ देवेश बताते हैं कि गुड़ की तासीर गर्म है, इसलिए इसका सेवन जुकाम और कफ से आराम दिलाता है। जुकाम के दौरान अगर आप कच्चा गुड़ नहीं खाना चाहते हैं तो चाय या लड्डू में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी प्रकार गुड़ एनर्जी के लिए बहुत उपयोगी है। अगर व्‍यक्ति को ज़्यादा थकान और कमजोरी महसूस हो रही है तो गुड़ का सेवन करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है। गुड़ जल्दी पच जाता है, इससे शुगर का स्तर भी नहीं बढ़ता. दिनभर काम करने के बाद जब भी आपको थकान हो, तुरंत गुड़ खाएं।

जोड़ों के दर्द में असरकारक है गुड़

इसी प्रकार गुड़ शरीर के टेंपरेचर को नियंत्रित रखता है। इसमें एंटी एलर्जिक तत्व हैं, इसलिए दमा के मरीज़ों के लिए इसका सेवन काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा जोड़ों के दर्द में आराम भी देता है गुड़। इसके लिए रोज़ गुड़ के एक टुकड़े के साथ अदरक का सेवन करें, इससे जोड़ों के दर्द की दिक्कत नहीं होगी।

अस्‍थमा को दूर रखता है

डॉ देवेश ने बताया कि गुड़ के साथ पके चावल खाने से बैठा हुआ गला व आवाज खुल जाती है।  गुड़ और काले तिल के लड्डू खाने से सर्दी में अस्थमा की परेशानी नहीं होती है। जुकाम जम गया हो, तो गुड़ पिघलाकर उसकी पपड़ी बनाकर खिलाएं।  गुड़ और घी मिलाकर खाने से कान का दर्द ठीक हो जाता है।

याददाश्‍त बढ़ाता है गुड़

तीन ग्राम सौंठ दस ग्राम गुड़ के साथ लेने से पीलिया रोग में लाभ होता है। गुड़ का हलवा खाने से स्मरण शक्ति बढती है।