Saturday , January 29 2022

पीजीआई के डॉक्‍टर और मंत्री की एक पॉजिटिव सोच ने ‘इज्‍जतघर’ का सपना कर दिया साकार

पीजीआई क्षेत्र के शिशु मंदिर में फीमेल टॉयलेट का उद्घाटन किया अनुपमा जायसवाल ने

लखनऊ। एक पॉजिटिव सोच क्‍या बदलाव ला सकती है, इसका उदाहरण है पीजीआई क्षेत्र के विद्यालय शि‍शु मंदिर में बना फीमेल टॉयलेट। गुरुवार को विद्यालय के इस ‘इज्‍जत घर’ का औपचारिक उद्घाटन उत्‍तर प्रदेश सरकार की बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने किया। इस टॉयलेट के बनने की कहानी बहुत ही दिलचस्‍प है। विद्यालय के प्रधानाचार्य शांति स्‍वरूप करीब डेढ़ साल पूर्व संजय गांधी पीजीआई में न्‍यूरोसर्जरी के डॉ सुनील प्रधान के पास उपचार के सिलसिले में आये थे। बातों ही बातों में प्रधानाचार्य ने अपने विद्यालय शिशु मंदिर में एक फीमेल टायलेट की जरूरत के बारे में डॉ प्रधान से कहा था, उन्‍होंने बताया कि पहले जब बच्चियां छोटी थीं तो एक ही टॉयलेट से काम चल जाता था, धीरे-धीरे बच्चियां बड़े क्‍लास में पहुंचने लगीं, तो बच्‍चों की संख्‍या भी ज्‍यादा हो गयी और बड़ी होती बच्चियों के लिए एक फीमेल टॉयलेट की जरूरत महसूस होनी शुरू हो गयी है। आपके पास ऐसे सक्षम लोग बहुत आते होंगे जो इस कार्य में विद्यालय की मदद कर दें तो अच्‍छा रहेगा। यही वह समय था जब डॉ प्रधान के मस्तिष्‍क में बच्चियों के लिए इस जरूरत की चीज को पूरा करवाने में अपने योगदान की पॉजिटिव बात घर कर गयी।

दरअसल प्रधानमंत्री स्‍वच्‍छ भारत अभियान के तले डेढ़ साल पूर्व इंडियन मेडिकल एसोसिएशन लखनऊ के तत्‍कालीन अध्‍यक्ष डॉ पीके गुप्‍ता के कार्यकाल में आईएमए की ओर से क्षेत्र के रामभरोसे मैकूलाल कॉलेज में बनवाये गये टॉयलेट के समय से डॉ प्रधान इस प्रकार के सामाजिक सरोकारों से प्रभावित थे।

यह संयोग ही था कि जब प्रधानाचार्य ने डॉ प्रधान से यह बात कही उसी के बाद डॉ प्रधान के पास मंत्री अनुपमा जायसवाल किसी कार्य से पहुंची थीं, ऐसे में बेसिक शिक्षा मंत्री होने के नाते विद्यालय में फीमेल टॉयलेट बनवाने की बात अनुपमा जायसवाल से डॉ प्रधान ने रखी तो उन्‍होंने कहा कि हालांकि यह विद्यायल परिषदीय विद्यालय नहीं है इसलिए मैं विभाग की ओर से इसे नहीं बनवा सकती हूं लेकिन आपकी बात की मैं जरूर कद्र करूंगी और उन्‍होंने इसे बनवाने के लिए डेटॉल कम्‍पनी के प्रतिनिधि से कहा, जिसने कम्‍पनी के कॉरपोरेट सोशल रेस्‍पॉन्सिबिलिटी फंड के तहत विद्यालय में फीमेल टॉयलेट के निर्माण की बात कही। कम्‍पनी ने अपना वादा पूरा किया और इसी टॉयलेट का उद्घाटन करने गुरुवार को मंत्री अनुपमा जायसवाल आयीं थीं।

इस अवसर पर अनुपमा जायसवाल ने विद्यालय में पांच पौधे भी रोपित किये। समारोह में मौजूद आईएमए लखनऊ के पूर्व अध्यक्ष व सामाजिक सरोकार से जुड़े व पर्यावरण प्रेमी डॉ पीके गुप्ता के पेड़ की रक्षा के लिए पेड़ को राखी बांधने की बात अनुपमा जायसवाल को पता चली तो उन्होंने पौधों को राखी बांधी तथा इस बेहतरीन आइडिया के लिए डॉ गुप्ता की प्रशंसा की।

आज के इस मौके पर डॉ सुनील प्रधान, डॉ पीके गुप्‍ता, स्‍वच्‍छता प्रोत्‍साहन समिति के अध्‍यक्ष अजय कुमार सिंह, प्रधानाचार्य शांति स्‍वरूप, डॉ गोडबोले, ब्रिगेडियर वीरेन्‍द्र त्रिपाठी, डेटॉल कम्‍पनी के प्रतिनिधि अमित शुक्‍ला सहित अन्‍य लोग उपस्थित रहे।

डॉ गुप्‍ता ने बताया कि आज ही रामभरोसे मैकूलाल विद्यालय में भी पौधरोपण किया गया। उन्‍होंने आह्वान किया कि पर्यावरण की रक्षा और आने वाली पीढ़ी को स्‍वच्‍छ और स्‍वस्‍थ पर्यावरण देने के लिए हमें पेड़ लगाने ही होंगे।